काला धन मामला: कोर्ट ने चिदंबरम के परिजन को 2 नवंबर तक के लिए दी राहत

Samachar Jagat | Friday, 12 Oct 2018 04:14:07 PM
Black money case: Court gives relief to relatives of Chidambaram till November 2

चेन्नई। मद्रास उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को विदेशी संपत्तियों का खुलासा नहीं करने से जुड़े एक मामले में पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदंबरम के परिजन को यहां एक विशेष अदालत के सामने उपस्थिति से दो नवंबर तक छूट के अंतरिम आदेश की समयावधि बढ़ा दी।

यह मामला आयकर विभाग ने उनके खिलाफ दायर किया है। न्यायमूर्ति एस मणिकुमार और न्यायमूर्ति सुब्रह्मण्यम प्रसाद की खंडपीठ चिदंबरम की पत्नी, बेटे और बहू द्बारा दायर मुख्य अपीलों पर अपना आदेश पहले ही सुरक्षित रख चुकी है।

इन अपीलों में कालाधन कानून के तहत आयकर विभाग द्बारा उनके खिलाफ शुरू किये गये अभियोजन को चुनौती दी है। कोर्ट ने 14 सितंबर को एक अंतरिम आदेश में चिदंबरम की पत्नी नलिनी, उनके बेटे कार्ति तथा बहू श्रीनिधि को आर्थिक अपराध मामलों की विशेष अदालत के सामने उपस्थिति से 12 अक्टूबर तक छूट दी थी।

इस अंतरिम आदेश की मियाद शुक्रवार को खत्म होने वाली थी और इसलिए इसकी समयावधि दो नवंबर तक बढा दी। यह मुद्दा तीनों द्बारा विदेशी संपत्तियों और बैंक खातों की कथित रूप से जानकारी नहीं देने से जुड़ा है। आयकर विभाग के अनुसार चिदंबरम के तीनों परिजनों ने ब्रिटेन के कैंब्रिज में 5.37 करोड़ रुपए की संयुक्त मालिकाना संपत्ति का खुलासा नहीं किया जो कालाधन कानून के तहत अपराध है।

विभाग का यह भी आरोप है कि कार्ति चिदंबरम ने ब्रिटेन के मेट्रो बैंक में मौजूद एक विदेशी खाते और नैनो होल्डिंग एलएलसी, अमेरिका और अन्य में निवेश की जानकारी भी नहीं दी। विभाग ने मई में विशेष अदालत में दर्ज कराई शिकायत में यह बात कही थी। तीनों ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी। एक न्यायाधीश की पीठ द्बारा कोई राहत देने से इंकार करने पर उन्होंने बड़ी पीठ के सामने अपील दायर की थी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.