मंत्रिमंडल को भारत, रूसी रेलवे के बीच सहयोग समझौते की जानकारी दी गई

Samachar Jagat | Thursday, 01 Nov 2018 03:53:37 PM
Cabinet gives information on cooperation agreement between India and Russian Railways

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्रिमंडल को रेलवे के क्षेत्र में तकनीकी सहयोग पर इंडिया और संयुक्त स्टॉक कंपनी रूसी रेलवे के बीच समझौता ज्ञापन की जानकारी दी गई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में गुरूवार को हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में रूस के साथ गत 5 अक्टूबर को हस्ताक्षर किए गए समझौता ज्ञापन (एमओयू) और एक सहयोग ज्ञापन (एमओसी) की जानकारी दी गई।

इसमें परिवहन शिक्षा में सहयोग के लिए रूस के परिवहन मंत्रालय के साथ समझौता ज्ञापन और रेलवे के क्षेत्र में तकनीकी सहयोग पर संयुक्त स्टॉक कंपनी रूसी रेलवे (आरजेडडी) के साथ सहयोग ज्ञापन शामिल है। सरकारी विज्ञप्ति के मुताबिक एमओयू एवं एमओसी भारतीय रेल को रेल के क्षेत्र में नवीनतम विकास और ज्ञान साझा करने का मंच प्रदान करते हैं।

एमओयू में परिवहन शिक्षा के विकास के लिए प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में सहयोग का प्रावधान है। यह व्यापार-आर्थिक, वैज्ञानिक-तकनीकी तथा सांस्कृतिक सहयोग पर अंतर-सरकारी रूसी – भारतीय आयोग के ढांचे में क्रियान्वयन सहित विशेष प्रस्तावों की तैयारी में सहायता देगा। वहीं, एमओसी विभिन्न क्षेत्रों में तकनीकी सहयोग में सहायता प्रदान करेगा।

इसमें यात्री गाड़ियों की गति 200 किलोमीटर प्रतिघंटे (सेमी हाई स्पीड) बढाने के लिए नागपुर-सिकंदराबाद सेक्शन के उन्नयन के लिए परियोजना को लागू करना तथा भारतीय रेल नेटवर्क के अन्य निर्देशों सहित सेक्शन का संभावित विस्तार शामिल है।

उल्लेखनीय है कि भारतीय रेल ने विभिन्न विदेशी सरकारों तथा राष्ट्रीय रेलवे के साथ रेल क्षेत्र में तकनीकी सहयोग के लिए एमओयू / एमओसी पर हस्ताक्षर किए हैं। यह सहयोग चिन्हित क्षेत्रों में उच्च गति की रेलगाड़ी, वर्तमान मार्गों की गति बढ़ाना, विश्व स्तरीय स्टेशनों का विकास, भारी परिवहन संचालन रेल ढांचे का आधुनिकीकरण कार्यो से संबंधित हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.