शराब और पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में नहीं लाए केंद्र: तेलंगाना वित्त मंत्री

Samachar Jagat | Wednesday, 13 Jun 2018 10:10:12 AM
Center for liquor and petrol and diesel not brought under the purview of GST: Telangana Finance Minister

हैदराबाद। पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर आम लोगों से लेकर सरकार तक हर कोई परेशान है। हालांकि लगतार कई दिनों से पेट्रोल डीजल की कीमतों में कटौती हो रही है लेकिन कटौती ने अभी तक लोगों राहत नही दी है। मांग उठी थी की पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाए। अगर  पेट्रोल डीजल को जीएसटी के दायरे में लाना तो तो इसके लिए राज्यों की सहमति जरूरी है, लेकिन ऐसा नही लग रहा है।

दूरसंचार की सफलता की गाथा जारी रहे यह सुनिश्चित करेगी सरकार: सिन्हा

बता दें तेलंगाना के वित्त मंत्री एटेला राजेंद्र ने मंगलवार को कहा कि यदि केंद्र पेट्रोल, डीजल और शराब को माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में लाती है तो उनके राज्य को राजस्व का बड़ा घाटा होगा। यहां एक कार्यक्रम में संवाददाताओं से अलग से बात करते हुए उन्होंने कहा कि तेलंगाना को 15 वें वित्त आयोग के लिए तय कुछ नियम - शर्तों पर आपत्ति है।

पीएनबी घोटाला : अदालत ने चार आरोपियों की जमानत याचिका की खारिज

उन्होंने कहा, ’’पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाना सही फैसला नहीं होगा है। यह देश के संघीय भावना को चोंट पहुंचायेगा। अगर ये उत्पाद जीएसटी के दायरे में आते हैं तो राज्य की आय और प्रभावित होगी। उन्होंने कहा कि शराब और ईंधन को जीएसटी प्रणाली के अंतर्गत नहीं लाया जाना चाहिए। राज्यों को अपनी अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए कुछ छूट जरूर होनी चाहिए।

सेबी ने भारतीय कंपनियों को विदेशी शेयर बाजारों में सीधे सूचीबद्धत की छूट देने का प्रस्ताव किया

पेट्रोल और डीजल की कीमतों को लेकर एटेला राजेंद्र ने कहा कि राज्यों का वैट घटाने के बजाए केंद्र सरकार को उत्पाद शुल्क घटाकर दाम में कम करना चाहिए। उन्होंने कहा, ’’ अधिकांश कल्याणकारी योजनाएं राज्यों द्बारा चलाई जाती हैं। हम केंद्र सरकार से उत्पाद शुल्क घटाने का आग्रह करते हैं। उन्होंने कहा कि शुल्क घटाने और आम आदमी को राहत देने की जिम्मेदारी केंद्र की है। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.