चंद्रयान-2: हर ओर से मिले बंधाई संदेश, आखिर जाने क्या कहा ?

Samachar Jagat | Saturday, 07 Sep 2019 10:38:50 AM
Chandrayaan-2: Bandhai messages from all sides, what did you know?

इंटरनेट डेस्क। चंद्रयान-2 की सफलता के लिए हर भारतवासी ने अपनी दुआएं मांगी। आधी रात का वक्त ऐसा वक्त था। जब पूरा देश बड़ी बेसब्री से लैंडर विक्रम के चांद की धरती को चूमने और खुशी में झूमने का इंतजार कर रहा था। दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हुआ, लेकिन भारतवासी इसे भारत और इसरो की असफलता नहीं मानता है। स्पेस साइंस में भारत ने चंद्रयान-2 के जरिए नया इतिहास रचा है। चांद पर उतर रहे लैंडर विक्रम से भले ही संपर्क टूट गया, लेकिन सवा अरब भारतीयों की उम्मीदें नहीं टूटी हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी सहित तमाम नेताओं ने इसरो से कहा है कि देश को उन पर गर्व है।


loading...

देर रात करीब 1.51 बजे चंद्रमा की सतह से 2.1 किमी दूर इसरो का लैंडर विक्रम से संपर्क टूट गया। चंद्रयान-2 की कुल लागत 978 करोड़ रुपये है और भले ही लैंडर विक्रम से संपर्क टूट गया हो, ऑर्बिटर से अब भी इसरो और पूरे देश को उम्मीदें हैं। ऑर्बिटर विक्रम से भले ही उम्मीदें टूट गई हों, लेकिन भारतीय वैज्ञानिकों ने एक ऐसे मिशन पर हाथ डाला, जिसकी सफलता को लेकर पहले ही दिन से संशय की स्थिति थी। शायद यही कारण है कि इसरो पहले से ही अंतिम 15 मिनट को बेहद खतरनाक और महत्वपूर्ण मान रहा था। चंद्रयान-2 मिशन को पूरी तरह से फेल नहीं कहा जा सकता है, इसलिए भारत की इस स्पेस एजेंसी को तमाम लोग बधाई दे रहे हैं। सभी ने कहा कि आपकी उपलब्धियों पर हमें गर्व है।

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि चंद्रयान-2 मिशन को लेकर इसरो की टीम ने अनुकरणीय प्रतिबद्धता और साहस का प्रदर्शन किया। राष्ट्रपति ने ट्वीट में लिखा- देश को इसरो पर गर्व है। हम सभी बेहतर की उम्मीद करते हैं।

इसी के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस समय वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाया। उन्होंने कहा कि आपने देश के लिए बहुत अच्छा काम किया है। जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं और यह यात्रा जारी रहेगी। पीएम मोदी ने कहा कि जब मिशन बड़ा होता है तो निराशा से पार पाने की हिम्मत होनी चाहिए। मेरी तरफ से आप सभी को बहुत बधाई है। आपने देश की मानव जाति की बड़ी सेवा की है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई। उन्होंने कहा कि इसरो की कोशिशों से हर भारतीय गौरवान्वित है। लैंडर विक्रम  का इसरो केंद्र से संपर्क टूटने के कुछ ही मिनट बाद अमित शाह ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि चंद्रयान-2 को लेकर अभी तक की इसरो की उपलब्धि पर प्रत्येक भारतीय को गर्व है। उन्होंने कहा कि भारत हमारे प्रतिबद्ध और कठिन मेहनत करने वाले इसरो के वैज्ञानिकों के साथ है। भविष्य की यात्रा के लिए मेरी शुभकामनाएं।

मायावती ने चंद्रयान 2 को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा कि चाँद पर कदम रखने के लिए चन्द्रयान-2 मिशन ने समस्त भारतीय जनमानस को रोमांचित किया है। इस सम्बंध में भारतीय वैज्ञानिकों खासकर इसरो के वैज्ञानिकों ने अबतक जो भी सफलता प्राप्त की है वह गर्व करने लायक हैै। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि आपका का काम बेकार नहीं जाएगा। इसने कई बेजोड़ और महत्वाकांक्षी भारतीय अंतरिक्ष मिशनों की बुनियाद रखी है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी विक्रम लैंडर से संपर्क टूट जाने के बाद भी चंद्रयान-2 मिशन में इसरों के वैज्ञानिकों ने बेहतरीन कार्य किया। केजरीवाल ने कहा कि हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। उन्होंने, इतिहास रचा है। निराश होने की जरूरत नहीं है। हमारे वैज्ञानिकों ने उम्दा काम किया है।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि हम आपके साथ हैं इसरो... आपने अंतरिक्ष में अपनी उपलब्धियों को महसूस कराने के लिए राष्ट्र, इसके युवा दिमाग और सभी को एक साथ लाया है। आपको सफलता मिलेगी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी वैज्ञानिकों को बधाई दी है। उन्होंने कहा में भारतीय वैज्ञानिकों, उनके परिश्रम, प्रतिभा और विजन पर गर्व है। आप सभी निरंतर हमारे प्रेरणा के स्रोत हैं। पूरा देश आप सभी के साथ खड़ा है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.