चंद्रयान 2: लैंडिंग में लगेंगे 4 घंटे, 2 साल तक मिलती रहेंगी तस्वीरें

Samachar Jagat | Friday, 06 Sep 2019 10:34:49 AM
Chandrayaan 2: Landing will take 4 hours, photos will be available for 2 years

इंटरनेट डेस्क। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के वैज्ञानिकों की मेहनत का नतीजा अब सामने आएंगा। इस पल के साक्षी खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बनेंगे। पीएम मोदी शुक्रवार देर रात को ही बेंगलुरु के इसरो सेंटर में पहुंचेंगे, जहां पर वह स्कूली बच्चों के साथ इस पल को देखकर महसूस करेंगे।

चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर जब आज चांद पर लैंड करेगा तो शुरुआती कुछ घंटे काफी महत्वपूर्ण रहने वाले हैं। लैंडिंग की प्रक्रिया देर रात 1 बजे के आसपास शुरू होगी, जो 7 सितंबर सुबह तक जारी रहेगी। यही पल धड़कन बढ़ाने वाले होंगे। खास बात ये भी है कि भारत पहली बार अपने किसी यान की सॉफ्ट लैंडिंग कराने जा रहा है। चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर 35 किलोमीटर की ऊंचाई से चांद के दक्षिणी ध्रुव पर उतरना शुरू करेगा।

तब इसकी रफ्तार 200 मीटर प्रति सेकंड होगी। यह इसरो वैज्ञानिकों के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण काम होगा. क्योंकि ऐसा पहली बार होगा। जब कोई देश चांद के दक्षिणी ध्रुव पर होगा। विक्रम लैंडर दक्षिणी ध्रुव पर मौजूद 2 क्रेटर मैंजिनस-सी और सिंपेलियस-एन के बीच मौजूद मैदान में उतरेगा. करीब 6 किलोमीटर की ऊंचाई से लैंडर 2 मीटर प्रति सेकंड की गति से चांद की सतह पर उतरेगा।

इस दौरान कुल पंद्रह मिनट का समय लगेगा। चांद पर लैंडिंग के वक्त करीब 2 घंटे के बाद विक्रम लैंडर का रैंप खुलेगा। इसी के जरिए 6 पहियों वाला प्रज्ञान रोवर चांद पर उतरेगा।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.