चलो उत्तराखंड की देवनगरी...!  अक्षय तृतीया से शुरू होगी चारधाम यात्रा, पहले खुलेंगे गंगोत्री और यमनोत्री के कपाट

Samachar Jagat | Monday, 16 Apr 2018 04:06:52 PM
 Char dham yatra will start from Akshay Tritiya

धार्मिक डेस्क। चारधाम जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए खुशखबरी हैं, जल्द ही चारधाम यात्रा शुरू  होने जा रही है। यह यात्रा 18 अप्रैल से शुरू होगी। अक्षय तृतीया को गंगोत्री और यमनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही चारधाम यात्रा का भव्य आगाज होगा।

गंगोत्री और यमनोत्री में इस ऐतिहासिक मौके के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। शीतकाल के 6 महिने के अवकाश के बाद उच्च हिमालयी क्षेत्रों में स्थित मां यमुना और मां गंगा के पवित्र स्थलों में चहल पहल शुरू होगी। 

यमनोत्री धाम 
18 अप्रैल को सुबह नौ बजकर 15 मिनट पर यमुना के शीतकालीन प्रवास स्थल खरसाली से मां यमुना की डोली रवाना की जाएगी। यमनोत्री धाम पहुंचकर बारह बजकर 15 मिनट पर ग्रीष्मकाल के लिए मां यमुना के कपाट खोल दिए जाएंगे। 

गंगोत्री धाम 
दूसरी ओर मां गंगा के शीतकालीन प्रवास स्थल मुखबा से 17 अप्रैल को ठीक 11.45 मिनट पर मां गंगा की शोभायात्रा रवाना की जाएगी। शोभा यात्रा 17 अप्रैल की शाम भैरव घाटी में रात्रि विश्राम करेगी और 18 अप्रैल को गंगोत्री धाम पहुंचकर 1.15 मिनट पर पूजा अर्चना के बीच अभिजीत मुहूर्त में मां गंगा के कपाट खोल दिए जाएंगे।

गंगोत्री और यमनोत्री धाम में चारधाम यात्रा की सभी तैयारियां पूर्ण हो चुकी हैं। चारधामों में प्रवाय की ये परंपरा आदिकाल से चलती आ रही है। मान्यता है कि शीतकाल के 6 महिने  देवगण इन उच्च हिमालयी क्षेत्रों की यात्रा पर होते हैं और ग्रीष्मकाल के 6 महिने नर यात्रा संचालित होती है।

29 अप्रैल को खुलेंगे केदारनाथ के कपाट
खबरों के मुताबिक उखीमठ से 26 अप्रैल को उत्सव डोली केदारनाथ मन्दिर के लिए निकलेगी। तय कार्यक्रम के मुताबिक 25 को परंपरानुसार श्री ओम्कारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में श्री भैरवनाथ पूजा की जाएगी। 26 को श्री केदारनाथ जी की उत्सव डोली श्री ओम्कारेश्वर मंदिर ऊखीमठ से प्रात: 10 बजे फाटा गांव के लिए निकलेगी।

 27 को फाटा से प्रस्थान कर रात्रि अवस्थान हेतु श्री गौरीमाई मंदिर गौरीकुंड पहुंचेगी। 28 को गौरीकुंड से प्रस्थान कर रात्रि अवस्थान हेतु श्री केदारनाथ धाम पहुंचेगी। 29 अप्रैल को प्रात: 06 बजकर 15 मिनट पर मेष लग्न में भगवान श्री केदारनाथ मंदिर के कपाट खोले जाएंगे।

30 अप्रैल को खुलेंगे बदरीनाथ के कपाट
बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि की घोषणा कर दी गई है। 30 अप्रैल 2018 को सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर धाम के कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए खुल जाएंगे।

पॉलीथिन पर पूरी तरह पाबंदी
इस बार सरकार ने पॉलीथिन पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी है। यात्रियों और श्रद्धालुओं को वाहनों की कमी से होने वाली परेशानियों से बचाने के लिए भी सरकार वैकल्पिक इंतजाम भी कर रही है। चारधाम यात्रा में इस बार पॉलीथीन के यूज पर पूरी तरह प्रतिबंध रहेगा। प्रशासन यात्रा रूट के व्यापारियों को पॉलीथीन से बचने पर जोर दे रहा है। 

हैवानियत मस्त, सरकार पस्त: क्या ऐसे ही लूटती रहेगी इन मासूमों की इज्जत?

वाहनों की संख्या बढ़ाई
चारधाम यात्रा के लिए वाहनों की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। ऋषिकेश से रोटेशन में करीब 1350 बसें चलती हैं। इस बार देहरादून से भी 100 बसें लगाई जा रही हैं।

रोडवेज की 100 और केएमओयू हल्द्वानी से भी 50 बसों की व्यवस्था की है। छोटी-बड़ी कुल 12 हजार से अधिक टैक्सियां भी उपलब्ध रहेंगी। इसके बाद भी जरूरत पड़ी तो स्कूल बसें यूज की जाएंगी।

16 अप्रैल इसलिए हैं खास: आज के ही दिन देश को मिली थी पहली ट्रेन

मोबाइल एप
खबरों के मुताबिक सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने बताया कि यात्रा को सुविधाजनक बनाने के लिए मोबाइल एप का काम अंतिम चरण में है। ये एप बेहद कारगर साबित होगी। साथ ही यात्रियों के फोटोमेट्रिक पंजीकरण सहित दूसरी सुविधाओं व मदद को कई काउंटर बनाए जाएंगे। यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं से ठगी और ज्यादा दाम की वसूली के मामलों में सख्ती बरती जाएगी। इसके लिए विशेष निर्देश जारी किए गए हैं। होटल व ढाबों को सामान व कीमत की सूची चस्पा करनी होगी। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.