कानपुर में आत्महत्या का प्रयास करने वाले आईपीएस अधिकारी की हालत बेहद नाजुक

Samachar Jagat | Thursday, 06 Sep 2018 09:17:35 AM
condition of IPS officer trying to commit suicide in Kanpur is extremely fragile

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर में बुधवार को विषाख्त पदार्थ का सेवन कर आत्महत्या का प्रयास करने वाले आईपीएस अधिकारी सुरेन्द्र कुमार दास की हालत नाजुक बनी हुई है। डाक्टरों के अनुसार पुलिस अधीक्षक (पूर्वी) दास की हालत बेहद नाजुक है। वे कोमा में चले गए है।

पुलिस अधिकारी की गंभीर हालत के मद्देनजर डॉ प्रणव ओझा के नेतृत्व में डाक्टरों का एक दल मुबंई से कानपुर के लिए रवाना हो चुका है जिनके रात 11 बजे तक यहां पहुंचने की संभावना है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव ने बताया कि दास की हालत बेहद चिताजनक है और वे कोमा में चले गए हैं।

अस्पताल के फिजीशियन, इन्टेन्सिविस्ट और कार्डियोलॉजिस्ट की टीम अपना भरसक प्रयास कर रही है लेकिन अभी भी उनकी हालत पर कोई सुधार नहीं है। इसलिए मुंबई के विशेषज्ञ डॉक्टर प्रणव ओझा को कानपुर बुलाने की सहमति बनी।

उन्होंने बताया कि डॉ. ओझा अपनी टीम के साथ जीवन रक्षक प्रणाली (एकमो) लेकर चार्टड विमान से कानपुर आ रहे हैं। डॉ. ओझा का विशेष चार्टड विमान रात्रि ग्यारह बजे आ जाएगा जिसके बाद वे रीजेंसी अस्पताल आकर एसपी पूर्वी का इलाज शुरू करेंगे।

पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेन्द्र कुमार दास ने कथित रूप से पारिवारिक कलह के चलते तडके अपने सरकारी आवास में जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया था। पुलिस अधिकारी को उर्सला अस्पताल ले जाया गया जहां हालत गंभीर होने पर उन्हे एक नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया।

सूत्रों के अनुसार 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी ने पारिवारिक कलह के चलते ये कदम उठाया है। वे गत कुछ समय से काफी परेशान थे। दास मूलत: बलिया के निवासी हैं। पुलिस अधिकारी ने इलेक्ट्रिक इंजीनियरिग में बीटेक किया है।

उन्होने बताया कि तबियत बिगडऩे पर स्टाफ ड्यूटी ने अधिकारियों को सूचना देकर उर्सला में भर्ती कराया। एसपी पूर्वी के जहर खाने की सूचना फैलते ही पुलिस-प्रशासन के आलाधिकारी हरकत में आए और उन्हें उर्सला से रीजेंसी के आईसीयू में  भर्ती कराया।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.