कांग्रेस ने 1984 के सिख विरोधी दंगे के दोषियों को बचाने का भरपूर प्रयास किया: बीजेपी

Samachar Jagat | Wednesday, 21 Nov 2018 06:33:24 PM
Congress has done a great deal to save the culprits of 1984 anti-Sikh riots: BJP

नई दिल्ली। सिख विरोधी दंगा मामले में एक दोषी को फांसी की सजा सुनाने के अदालत के फैसले पर संतोष व्यक्त करते हुए बीजेपी ने बुधवार को आरोप लगाया कि सिख विरोधी दंगों में कांग्रेस के नेताओं के शामिल होने की वजह से पार्टी ने दोषियों को बचाने का भरपूर प्रयास किया।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मीडिया से कहा कि गत करीब 35 वर्ष में कांग्रेस पार्टी द्बारा योजनाबद्ध और सुनियोजित तरीके से इस बात की पूरी कोशिश की गई कि 1984 के नरसंहार के आरोपियों के खिलाफ कोई प्रमाणिक कार्रवाई नहीं हो।

उन्होंने कांग्रेस नेता कमलनाथ पर भी निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस को जवाब देना होगा कि उन्हे पंजाब के प्रभारी पद से एक हफ्ते के अंदर क्यों हटाया। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने अपने भाषण में कहा था कि जब बरगद का पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है। इससे बड़ा गैर जिम्मेदाराना बयान और कोई नहीं हो सकता।

कांग्रेस पार्टी ने आज तक उनके इस भाषण से अपने आप को अलग नहीं किया है लेकिन यह जख्मों पर नमक छिड़कने जैसा है। प्रसाद ने कहा कि कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिह ने इसको लेकर खेद जताया था, लेकिन जिस प्रकार का मरहम लगाने की कोशिश होनी चाहिए, वैसा नहीं हुई। मरहम सिखों को न्याय दिलाकर लगाया जा सकता था लेकिन ऐसा नहीं किया गया। 

उन्होंने जोर दिया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने जो इस मुद्दे पर 2015 में एसआईटी बनाई थी उसी के कारण अदालत से जल्द फैसला आया है।उन्होंने कहा कि 1984 के नरसंहार के मामले में कल दिल्ली के न्यायालय ने दो अपराधियों में से एक को फांसी और एक को उम्र कैद की सजा सुनाई है, इस फैसले से हमें संतोष है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्बारा बनाया गये वेद मारवाह कमीशन के काम को रोक दिया गया था, वहीं रंगनाथ मिश्रा कमीशन ने कहा था कि इसमें कोई षड्यंत्र नहीं था और उसके बाद उन्हें राज्यसभा भेज दिया गया था। कपूर मित्तल कमिटी ने 72 पुलिस कर्मियों को दोषी बताया था। लेकिन उनके खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं हुई। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.