दूरस्थ संवेदी उपकरण खरीदने के लिये दिल्ली सरकार ईसीसी धन का इस्तेमाल कर सकती है : न्यायालय

Samachar Jagat | Friday, 11 May 2018 06:16:41 AM
Delhi government can use ECC money to buy remote sensing equipment: court

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने आज कहा कि दिल्ली सरकार दूरस्थ संवेदी यंत्र खरीदने के लिये पर्यावरण मुआवजा शुल्क : ईसीसी : से जुटाए गए धन का इस्तेमाल कर सकती है। यह मशीन यहां सडक़ों पर चल रहे डीजल वाहनों से हो रहे प्रदूषण का पता लगा सकती है। 

पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकार : ईपीसीए : द्वारा दूरस्थ संवेदी प्रौद्योगिकी को ‘ क्रांतिकारी ’ बताने और चीन और हांगकंाग में वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने में इसका सफलतापूर्वक इस्तेमाल किये जाने की बात करने के बाद शीर्ष अदालत ने यह बात कही। 

न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ को अधिवक्ता अपराजिता सिंह ने बताया कि प्रदूषण नियंत्रण : पीयूसी : की व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिये उठाए जाने वाले कदमों के संबंध में ईपीसीए की रिपोर्ट में दूरस्थ संवेदी उपकरणों के इस्तेमाल की सिफारिश की गई है। इसका पायलट आधार पर कोलकाता में पहले ही इस्तेमाल हो रहा है। अपराजिता न्याय मित्र के तौर पर अदालत की सहायता कर रही थीं। 

सिंह ने कहा कि जहां तक पेट्रोल से चलने वाले वाहनों का सवाल है तो मौजूदा पीयूसी उपाय सर्वोत्तम हैं , लेकिन डीजल वाहनों के लिये दूरस्थ संवेदी प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दूरस्थ संवेदी यंत्र पर तकरीबन 2.5 करोड़ रुपये का खर्च आएगा और इस तरह की 10 मशीनों को दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर लगाने की जरूरत है। 

उन्होंने कहा कि ये मशीन न सिर्फ डीजल वाहनों से होने वाले प्रदूषण का पता लगाती हैं , बल्कि वाहनों के नंबर प्लेट को भी स्कैन करती हें और इस संबंध में प्रदूषण फैला रहे वाहनों के मालिक को नोटिस भेजा जा सकता है। 

पीठ ने कहा , ‘‘ भारत सरकार को इस मुद्दे को देखने और जवाब दाखिल करने दें। ’’ इसके बाद पर्यावरण , वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की तरफ से उपस्थित अतिरिक्त सॉलीसीटर जनरल ए एन एस नाडकर्णी ने कहा कि वह निर्देश लेंगे और छह सप्ताह के भीतर अदालत के पास आएंगे। 

जब न्याय मित्र ने कहा कि इस उपकरण का इस्तेमाल दिल्ली में भी किया जा सकता है तो पीठ ने कहा , ‘‘ इस उद्देश्य के लिये : दिल्ली सरकार द्वारा : ईसीसी से राशि का इस्तेमाल किया जा सकता है। ’’ -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.