अमृतसर से लंदन के लिए जल्द शुरू होगी सीधी उड़ान

Samachar Jagat | Monday, 30 Jul 2018 02:11:06 PM
Direct flights from Amritsar to London will start soon

अमृतसर। प्रवासी भारतीयों तथा उनके रिश्तेदारों की अमृतसर से लंदन के लिए सीधी उड़ान की लंबे समय चली आ रही मांग जल्द ही पूरी होने जा रही है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री विजय सांपला के नेतृत्व में अमृतसर विकास मंच (एवीएम) के प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक में नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने आश्वासन दिया है कि नागरिक उड्डयन मंत्रालय और एयर इंडिया लंदन फ्लाइट्स में अमृतसर की बहाली पर विचार कर रहा है। मंत्री ने कहा कि लंदन हीथ्रो हवाई अड्डे पर एयर इंडिया के लिए स्लॉट की अनुपलब्धता के कारण, उड़ान लंदन ल्यूटन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से संचालित होगी। 

एवीएम के मुताबिक, लंदन ल्यूटन हवाई अड्डे की उड़ानें पंजाबियों तथा अनिवासी भारतीयों को पंजाब तथा लंदन और आसपास के इलाकों से सीधा जोड़ देंगी। यह उड़ान यूरोप, कनाडा और अमेरिका के पश्चिमी बाध्य स्थलों के साथ अमृतसर की वन-स्टॉप कनेक्टिविटी को जोडऩे में सक्षम नहीं होंगी क्योंकि ल्यूटन एयरपोर्ट के पास इन देशों से कनेक्टिविटी नहीं है। यह पंजाब, जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश से ब्रिटेन और यूरोप को मक्का, मटर, ओकरा तथा अन्य सब्जियां और फल जैसे खराब होने वाली वस्तुओं के निर्यात को भी पुनर्जीवित करेगा। लंदन की सीधी उड़ान की अनुपस्थिति में, निर्यातकों को नयी दिल्ली से अपने उपज निर्यात करने के लिए मजबूर होना पड़ता है।

उल्लेखनीय है कि ब्रिटिश सांसद तनमानजीत सिंह  ढेसी ने इस साल अप्रैल में दो गैर सरकारी संगठनों एवीएम और ब्रिटेन स्थित सेवा ट्रस्ट के साथ ब्रिटेन की संसद में एक कार्यक्रम शुरू किया था जिसमें लंदन हीथ्रो और अमृतसर के बीच सीधी उड़ानों की शुरुआत के लिए भारतीय सरकार से अनुरोध किया गया था। 

यहां जारी प्रेस वक्तव्य में एवीएम के महासचिव मनजीत सैनी ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय मंत्री सिन्हा से ओमान, दुबई, अबू धाबी, तुर्की, हांगकांग आदि के लिए द्विपक्षीय वायु सेवाओं के समझौते में अमृतसर को जोडऩे का भी अनुरोध किया ताकि इन देशों की एयरलाइन शुरू हो सकें। इसके अतिरिक्त लोकप्रिय अमृतसर-नांदेड उड़ान को सप्ताह में दो दिनों से बढ़ाकर चार दिनों तक करने की मांग की। 

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वर्तमान में वे दुबई, अबू धाबी, तुर्की इत्यादि से एयरलाइंस को भारत में किसी और हवाई अड्डे पर जाने की इजाजत नहीं दे रहे हैं क्योंकि इससे उन्हें यात्रियों को यूरोप, कनाडा और अमेरिका में उनके देश से ले जाने में मदद मिलती है। सरकार यात्रियों को दिल्ली और भारत के अन्य मेट्रो हवाई अड्डों के माध्यम से उड़ाना चाहती है। प्रतिनिधिमंडल ने हवाई अड्डे पर मौजूदा बुनियादी ढांचे से संबंधित, सुविधाओं के उन्नयन, सभी चार एयरोब्रिज के संचालन, टर्मिनल भवन का विस्तार, प्रथम मंजिल के काम के प्रारंभिक समापन और विमान पार्किंग स्थान के लिए एप्रन आदि से संबंधित मामलों पर चर्चा की।

केन्द्रीय मंत्री विजय सांपला के साथ मंच सदस्यों ने भी संसद भवन में पर्यटन राज्य मंत्री के जे अल्फोन्स से मुलाकात की और भारत के सभी प्रमुख पर्यटन स्थलों के साथ अमृतसर की कनेक्टिविटी की मांग की। मंत्रालय की नयी योजना अनुसार देश के सभी प्रमुख पर्यटक स्थलों को उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) की तर्ज पर जोडऩे की योजना में अमृतसर को शामिल करने और जयपुर, पटना, वाराणसी, कोलकाता, चेन्नई, लखनऊ, गोवा आदि से जोडऩे का अनुरोध किया। 

एजेंसी 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.