राहुल के आंख मारने को लेकर चिंतित न हो मीडिया, बुनियादी मुद्दों पर ध्यान दे : सिंधिया

Samachar Jagat | Saturday, 28 Jul 2018 04:21:36 PM
Do not worry about Rahul eyeballs

इंदौर। वरिष्ठ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को मीडिया को नसीहत देते हुए कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के संसद में आंख मारने के वाकए पर चिंतित होने के बजाय किसानों की आत्महत्या और महिलाओं से बलात्कार जैसे बुनियादी मसलों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

राहुल के आंख मारने के वाकए के बारे में पूछे जाने पर सिंधिया ने यहां संवाददाता सम्मेलन में तल्ख लहजे में कहा कि देश में किसान आत्महत्या कर रहे हैं, महिलाओं से बलात्कार हो रहे हैं, दलितों पर अत्याचार हो रहा है, आदिवासियों से उनकी जमीनों के पट्टे छीने जा रहे हैं और नौजवानों में बेरोजगारी बढ़ रही है।

इसके बावजूद प्रजातंत्र के चौथे स्तंभ को किसी के आंख मारने पर इतनी चिंता हो रही है। उन्होंने सवाल किया, मीडिया को राहुल द्वारा संसद में उठाए गए मुद्दों पर अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए या उनके द्वारा किसी विषय पर आंख मारने को तवज्जो देनी चाहिए।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने मीडिया कर्मियों से चुहल भरे अंदाज में कहा कि क्या किसी को आंख मारना इतनी बड़ी बात हो गई। क्या आपने अपनी जिंदगी में किसी को आंख नहीं मारी है। उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि देश में पेट्रोलियम पदार्थों पर अनाप-शनाप कर वसूली से पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं।

सिंधिया ने कटाक्ष किया, गत आम चुनावों से पहले मोदी कहते थे कि विदेशों से काला धन वापस लाकर हर देशवासी के खाते में 15-15 लाख रुपए जमा किए जाएंगे। लेकिन उनकी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर ऊंची दरों वाली कर वसूली से गत 4 वर्ष में जनता की जेब से करीब 15 लाख करोड़ रुपए निकाल लिए हैं।

उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्यों में इजाफे को चुनावी छलावा करार दिया। इसके साथ ही, आरोप लगाया कि ये दाम उचित फॉर्मूले के आधार पर तय नहीं किए गए हैं और इनसे धान व अन्य फसलें उगाने वाले किसानों को उनके पसीने का सही मोल नहीं मिल सकेगा। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.