रमजान के दौरान चुनाव पर बहस बेतुकी: अख्तर

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Mar 2019 05:48:08 PM
During the Ramadan, debate over the election is absurd: Akhtar

नई दिल्ली। जाने-माने लेखक और गीतकार जावेद अख्तर ने पवित्र रमजान के दौरान लोकसभा चुनाव की तिथियों को लेकर छिड़ी बहस पर नाराजगी जाहिर करते हुए इसे बेतुका करार दिया है। आम आदमी पार्टी (आप) के ओखला से विधायक और तृणमूल कांग्रेस के नेताओं और कई अन्य धार्मिक गुरुओं ने रमजान के दौरान लोकसभा का चुनाव कराए जाने को लेकर सवाल खड़े किए थे।

आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता एवं सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने रमजान के दौरान चुनाव कराए जाने का बचाव करते हुए कहा कि इस दौरान अन्य काम भी किए जाते हैं। अख्तर ने अपने आधिकारिक ट्विटर पर लिखा,''मैं रमजान और चुनावों को लेकर हो रही बहस से कतई इत्तेफाक नहीं रखता हूं और मेरा मानना है कि यह पूरी बहस बेतुकी है।

भीम आर्मी प्रमुख को देवबंद पुलिस ने किया गिरफ्तार, समर्थकों ने रोकी पुलिस की गाडियां

यह बहस धर्मनिरपेक्षता का विकृत और पेचीदा रूप है जो मेरे लिए बेतुका, वीभत्स और असहनीय है। चुनाव आयोग को इस पर तनिक भी विचार नहीं करना चाहिए। रमजान के दौरान चुनाव की तिथियों को लेकर खड़े किए जा रहे सवालों पर चुनाव आयोग ने सोमवार को स्पष्ट किया था कि शुक्रवार और त्योहारों के दिन मतदान की तिथियां नहीं हैं।

कांग्रेस कार्य समिति की बैठक, बीजेपी-आरएसएस की फासीवादी विचारधारा को हराने का संकल्प लिया

चुनाव आयोग ने रविवार को सत्रहवीं लोकसभा के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा की है। सात चरणों में होने वाले चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल और 19 मई को अंतिम चरण में वोट डाले जाएंगे। मतगणना 23 मई को होगी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.