चुनाव आयोग को राजनैतिक दलों का खर्च सीमित करने की जगह पारदर्शिता पर विचार करना चाहिए : भाजपा

Samachar Jagat | Tuesday, 28 Aug 2018 08:54:29 AM
Election Commission should consider transparency rather than limiting spending of political parties: BJP

नई दिल्ली। भाजपा ने कहा कि चुनाव आयोग को राजनैतिक दलों के चुनाव खर्च की सीमा तय करने की जगह बेहतर पारदर्शिता पर विचार करना चाहिए। भाजपा ने चुनाव आयोग के साथ सर्वदलीय बैठक में यह भी कहा कि वह संसद में महिला आरक्षण विधेयक पेश किए जाने के बारे में भी 'आशावादी’ है।

गुजरात बैंक घोटाला : राहुल और सुरजेवाला के खिलाफ आपराधिक मानहानि का मुकदमा 

इसमें कहा गया है, राजनैतिक दलों के राजनैतिक प्रचार अभियान एजेंडा आधारित और दृष्टि पत्रों से मार्गदर्शित होते हैं। अगर इसे किसी भी रूप में सीमित किया गया तो यह निश्चित तौर पर जाति और व्यक्तिगत प्रभाव आधारित राजनीति को प्रोत्साहित करेगा। इसलिए, चुनाव आयोग खर्च को सीमित करने की जगह बेहतर पारदर्शिता पर विचार कर सकता है।

सिख विरोधी दंगों को लेकर राहुल का बड़ा बयान, कांग्रेस पर भाजपा और अकाली दल का चौतफा हमला 

भाजपा का प्रतिनिधित्व पार्टी महासचिव भूपेंद्र यादव ने किया। कांग्रेस ने राजनैतिक दलों के चुनाव खर्च की सीमा तय करने का समर्थन किया है। बाद में जारी एक वक्तव्य के अनुसार भाजपा ने यह भी कहा कि किसी राजनैतिक दल का अभियान चुनाव में भागीदारी के लिये मतदाताओं को प्रोत्साहित और प्रभावित करता है।

सामाजिक बुराइयों को खत्म करने के लिए नए कानून से ज्यादा राजनैतिक इच्छाशक्ति की जरूरत : वेंकैया 

भाजपा ने कहा कि 20000 रुपए से अधिक के सभी चंदे अब रिपोर्ट हो रहे हैं तो धन और खर्चे के उनके स्रोतों को रिपोर्ट करना उम्मीदवारों और दलों पर छोड़ा जाना चाहिए। पार्टी ने कहा कि राजनैतिक दल अपने वोटिंग समर्थन आधार और सदस्यता के आधार पर चंदा जुटाते हैं। कॉरपोरेट और धनवान लोगों का चंदा और क्राउड फंडिंग उसके वोटर आधार का नतीजा है। इसने कहा, इसलिए ऐसे चंदा जुटाने या खर्च की सीमा तय करने का कोई कारण नहीं है। भाजपा ने हालांकि कहा कि किसी राजनैतिक दल के खर्च की सीमा के मुद्दे पर कई कारकों को ध्यान में रखते हुए व्यापक चर्चा होनी चाहिए।


 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.