संकट में अन्नदाता: उत्तर प्रदेश में बरसी आसमानी आफत, 15 लोगों की मौत

Samachar Jagat | Thursday, 12 Apr 2018 12:03:33 PM
farmer in crisis: Uttar Pradesh Heavy rain, 15 people die

लखनऊ। यूपी के अधिसंख्य क्षेत्रों में बुधवार देर रात चक्रवाती तूफान ने जमकर कहर बरपाया। तेज रफ्तार हवाओं के साथ हुई मूसलाधार बारिश से हजारों हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि पर पक कर खड़ी गेंहू की फसल बरबाद हो गई, जबकि वर्षाजनित हादसों में कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई। मथुरा, सहारनपुर, मेरठ, हापुड़, कानपुर, हमीरपुर और मौदहा सहित  राज्य के कई इलाकों में तूफानी हवाओं से सैकडों पेड़ धाराशायी हो गए।

कड़ी मेहनत, व्यवहार-कुशलता से लोग अलग पहचान बनायें: मोदी

होर्डिग, बैनर और टीन की चादरें दूर जा गिरे। बिजली के खम्भे और तार जमीन चूम गए। सैकडों की तादाद में कच्चे मकान जमींदोज हो गये। आगरा में विश्व धरोहर ताजमहल और आसपास की इमारतों को भी तूफानी हवाओं ने आंशिक नुकसान पहुंचाया। मौसम विभाग ने आंधी पानी का यह सिलसिला कम से कम अगले 3 दिनों तक जारी रहने की संभावना जताई है।

इस दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में आंधी और गरज चमक के साथ बारिश के आसार हैं जबकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में भारी बारिश का अनुमान है। किसानों को सलाह दी गई है कि वे गेहूं की तैयार फसल की जल्द से जल्द कटाई कर लें। इस बीच आंधी के बाद हुई तेज बारिश ने अन्नदाता की रही सही उम्मीदों पर भी पानी फेर दिया।

लंबे समय तक नहीं टिकेगा समाज में ‘तनाव का माहौल’: नीतीश

हजारों बीघा जमीन पर पकी गेहूं की बालियां मिट्टी में समा गई। वहीं कई क्षेत्रों में काट कर रखे गए गेंहू के ढेर भींग गए। खेतों पर जमा भूसा उडक़र हवा में गुम हो गया। बवंडर के कारण हुए हादसों में आगरा में आठ, मथुरा में 4 और फिरोजबाद में 3 लोगों की मृत्यु हो गई। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.