बिना चर्चा के लोकसभा में पारित हुआ वित्त विधेयक 

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Mar 2018 01:43:50 PM
Finance Bill passed without discussion in Lok Sabha

नई दिल्ली। विभिन्न दलों के हंगामे, नारेबाजी और कुछ दलों के बहिर्गमन के बीच 2018 के वित्त विधेयक, सभी मंत्रालयों तथा विभागों की अनुदान मांगें और संबंधित विनियोग विधेयक को लोकसभा ने बुधवार को ध्वनिमत से पारित कर दिया।

राजनाथ ने कहा, साइबर दुश्मनों को हराने के लिए एकजुट हों WORLD की एजेन्सी

हाल के वर्षों में यह पहला मौका है जब किसी भी मंत्रालय की अनुदान मांगों और वित्त विधेयक को सदन में बिना चर्चा के पारित किया गया है। बजट सत्र का दूसरा चरण गत पांच मार्च को शुरू होने के बाद से ही सदन में विपक्षी सदस्यों तथा सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सहयोगी तेलुगूदेशम पार्टी के हंगामे के कारण कोई कामकाज नहीं हो पाया है।

हंगामे की भेंट चढ़े शून्यकाल और प्रश्नकाल, राज्यसभा दो बजे तक स्थगित 

वित्त विधेयक तथा कुछ मंत्रालयों की अनुदान मांगें आज की कार्यसूची में चर्चा और पारित कराने के लिए दर्ज थी। कार्यसूची के अनुसार, विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की अनुदान मांगें एकसाथ (गिलेटिन) शाम पांच बजे पारित कराई जानी थी, लेकिन संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने सुबह कार्यवाही शुरू होने पर विपक्ष के हंगामे के बीच लोकसभा अध्यक्ष से अनुरोध किया कि सभी अनुदान मांगें तथा वित्त विधेयक 2018 और चालू वित्त वर्ष की अनुपूरक अनुदान मांगें एवं संबंधित विनियोग विधेयक दोपहर 12 बजे के बाद ही पारित कर दिए जाएं।

मोदी ने हॉकिंग के निधन पर जताया दुख

अध्यक्ष ने उनका अनुरोध स्वीकार करते हुए सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। कार्यवाही पुन: शुरू होने पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सभी मंत्रालयों और विभागों की अनुदान मांगें (गिलेटिन), उनसे संबंधित विनियोग विधेयक पारित कराने के लिए पेश किया, जिसे सदन ने हंगामे के बीच ध्वनिमत से पारित कर दिया।

इसके बाद उन्होंने वित्त विधेयक 2018 को 21 संशोधनों के साथ विचार तथा पारित कराने के लिए पेश किया, जिसे सदन ने बिना चर्चा के ध्वनिमत से पारित कर दिया। इसी दौरान कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सदस्य सदन से बहिर्गमन कर गए। चालू वित्त वर्ष की पूरक मांगें और संबंधित विनियोग विधेयक भी बिना चर्चा के पारित कर दिए गए।-एजेंसी
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.