जुए-सट्टे से पीढिय़ों को बर्बाद करने की तैयारी में सरकार: कांग्रेस 

Samachar Jagat | Friday, 06 Jul 2018 01:40:17 PM
Government preparing to ruin generations of gambling-wagons: Congress

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। विधि आयोग द्वारा खेलों में सट्टेबाजी को कर के माध्यम से नियमित करने की सिफारिश किए जाने के बाद कांग्रेस ने शुक्रवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि सरकार जुए-सट्टे के माध्यम से पीढिय़ों को बर्बाद करने की तैयारी में है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी दावा किया कि देश की जनता सरकार के ‘षढय़ंत्रकारी निर्णयों’ को देख रही है और आगामी चुनावों में सबक सिखाएगी।

जापान ने सरीन हमले के दोषी नेता और 6 समर्थकों को दी मौत की सजा

उन्होंने काव्यात्मक अंदाज में तंज कसते हुए कहा कि $गरीब की जिदंगी में जुए के जहर का घोल, टैक्स के लिए भविष्य पर सट्टे का मोल। पहले रोजगार के नाम पर थी पकौड़े बिकवाने की बारी, अब जुए-सट्टे से रोजगार दे पीढिय़ों को बर्बाद करने की तैयारी। कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी जी, जनता आपके इन सारे षढय़ंत्रकारी निर्णयों को देख रही है।

अब आपकी सरकार जाने वाली है। दरअसल, विधि आयोग ने कल सिफारिश की थी कि क्रिकेट सहित अन्य खेलों पर सट्टे को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कर प्रणालियों के तहत नियमित कर वैध गतिविधियों के रूप में अनुमति दी जाए और विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) आकर्षित करने के लिए स्रोत के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाए।

आयोग की रिपोर्ट ‘लीगल फ्रेमवर्क : गैंबलिंग एंड स्पोर्ट्स बेटिंग इनक्लूडिंग क्रिकेट इन इंडिया’ में सट्टेबाजी के नियमन के लिए और इससे कर राजस्व अर्जित करने के लिए कानून में कुछ संशोधनों की सिफारिश की गयी है।

परमाणु समझौते को बचाए रखने वाला यूरोप का प्रस्ताव पर्याप्त नहीं : ईरान

सुरजेवाला ने वाराणसी में गंगा नदी में प्रदूषण की मात्रा 58 फीसदी बढऩे पर भी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर आरोप लगाया, ‘‘आरटीआई से खुलासा हुआ है कि मोदी ने ‘मां गंगा‘ के नाम पर भी देश को झांसा दिया है। 3800 करोड़ खर्च किए, फिर भी प्रदूषण घटने की बजाय 58 फीसदी बढ़ गया।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.