राज्यपाल ने संविधान का ‘एनकाउंटर‘ किया, हम कानूनी अधिकारों का उपयोग करेंगे : कांग्रेस

Samachar Jagat | Thursday, 17 May 2018 07:39:33 AM
Governor has encroached the Constitution, we will use legal rights: Congress

नई दिल्ली। कर्नाटक में राजभवन से बीएस येदियुरप्पा को सरकार गठन का न्यौता मिलने के बाद कांग्रेस ने राज्यपाल वजुभाई वाला पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि ‘उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के दखल से संविधान का ‘एनकाउंटर‘ किया है।‘

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि राज्यपाल के ‘इस अनैतिक और असंवैधानिक‘ निर्णय के खिलाफ पार्टी सभी कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल करेगी और जनता की अदालत में भी जाएगी। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्यपाल ने संविधान की बजाय ‘भाजपा में अपने मालिकों‘ की सेवा चुनी और ‘भाजपा की कठपुतली‘ के तौर पर काम किया।

सुरजेवाला ने कहा,‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के हस्तक्षेप से राज्यपाल वजुभाई वाला ने आज संविधान का एनकाउंटर कर डाला। कानून को रद्दी की टोकरी में फेंक दिया। कानून की धज्जियां उड़ा दीं।‘‘ उन्होंने कहा, ‘‘राज्यपाल ने जिस येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्यौता दिया उनके पास न बहुमत है और न ही जनादेश है। कांग्रेस और जदएस इन अनैतिक और असंवैधानिक कृत्यों को न तो स्वीकार करेगी और न ही झुकेंगे।‘‘

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘सभी कानूनी अधिकारों का इस्तेमाल किया जाएगा। जनता की अदालत में भी जाएंगे।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘वजुभाई वाला ने राज भवन की गरिमा धूमिल की, संविधान और नियमों की अहवेलना की तथा भाजपा की कठपुतली के तौर पर काम किया।‘‘ उन्होंने दावा किया, ‘‘राज्यपाल ने संविधान की बजाय ‘भाजपा में अपने मालिकों‘ (मास्टर्स इन बीजेपी) की सेवा चुनी ।‘‘ 

सुरजेवाला ने कहा, ‘‘कर्नाटक भाजपा ने (न्यौते के बारे में) पहले से सूचना दे दी। जब आदेश भाजपा मुख्यालय से आते हों तो फिर राज्यपाल पड़ की गरिमा का क्या होगा।‘‘ उन्होंने कहा कि जनता इस ‘लोकतंत्र की हत्या‘ के लिए प्रधानमंत्री, भाजपा अध्यक्ष और बीएस येदियुरप्पा को सबक सिखाएगी। सुरजेवाला ने कहा, ‘‘हम इस अनैतिक और असंवैधानिक निर्णय के खिलाफ लड़ेंगे और जीतेंगे।‘‘

दरअसल, राज्यपाल ने येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्यौता देने के साथ ही विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों का समय दिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा, ‘‘राज्यपाल ने येदियुरप्पा को बहुमत जुगाडऩे के लिए 15 दिनों का समय दिया है। 15 दिन का समय 104 को 111 में बदलने के लिए दिया गया है।

इससे पहले कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा था कि अगर राज्यपाल इस गठबंधन को न्योता नहीं देते हैं तो फिर राष्ट्रपति या न्यायालय के पास जाने का विकल्प खुला हुआ है। गौरतलब है कि राज्य में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। ऐसे में प्रदेश की 224 सदस्यीय विधानसभा में 222 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जेडीएस+ को 38 सीटें मिली हैं। फिलहाल, बहुमत के लिए जादुई आंकड़ा 112 है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.