CJI पर आरोप लगाने वाली महिला की धोखाधड़ी मामले में जमानत रद्द करने पर 23 मई को सुनवाई

Samachar Jagat | Wednesday, 24 Apr 2019 03:08:03 PM
Hearing on May 23 for cancellation of bail in fraud case of woman accused of CJI

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने बुधवार को कहा कि वह प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली उच्चतम न्यायालय की पूर्व कर्मचारी की जमानत रद्द करने के लिए पुलिस की ओर से दायर याचिका पर 23 मई को सुनवाई करेगी।

PM मोदी और राहुल गांधी के दौरे के बाद राजस्थान में चुनाव प्रचार ने पकड़ा जोर 

उच्चतम न्यायालय की पूर्व कर्मचारी पर धोखाधड़ी एवं धमकी देने का आरोप है। मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट मनीष खुराना ने यह देखते हुए कि मामले में  शिकायतकर्ता को पुलिस की याचिका की प्रति नहीं दी गई है मामले की सुनवाई स्थगित कर दी।

मामले की सुनवाई बुधवार को ही होनी थी। पुलिस ने महिला को 12 मार्च को मिली जमानत रद्द करने का अनुरोध किया है। शिकायतकर्ता ने दावा किया था कि उन्हें महिला एवं उसके सहयोगियों से धमकी मिल रही है। सुनवाई के दौरान उच्चतम न्यायालय की पूर्व कर्मचारी के वकील की ओर से मोबाइल फोन, सीपीयू और सीसीटीवी रिकॉर्डर को वापस करने के दो अनुरोध भी रद्द कर दिए गए।

जयपुर ग्रामीण सीट पर होगा रोचक मुकाबला: यहां पर निशानेबाज और चक्का फेंक आमने-सामने, दोनों का लक्ष्य केवल जीत पर

कथित धोखाधड़ी, आपराधिक धमकी और आपराधिक साजिश रचने के अपराध में महिला के खिलाफ तीन मार्च को एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी। इस सिलसिले में यहां तिलक मार्ग पुलिस थाना को हरियाणा के झज्जर निवासी नवीन कुमार से एक शिकायत मिली थी। कुमार ने आरोप लगाया था कि शीर्ष न्यायालय की पूर्व कर्मचारी ने उनसे 50,000 रुपए की धोखाधड़ी की है जिसे उसने अदालत में नौकरी दिलाने के एवज में रिश्वत के तौर पर लिया था।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.