तीन गुना कीमत देकर लड़ाकू विमान खरीदना कैसा देशहित हैं-सिब्बल

Samachar Jagat | Sunday, 02 Sep 2018 01:59:44 PM
How to buy fighter aircraft by paying three times the price - Kapil Sibal

इंदौर। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने आज केंद्र सरकार को राफेल सौदे पर घेरते हुये कहा कि तीन गुना अधिक दामों में लड़ाकू जहाज खरीदकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैसे देशहित का काम कर रहें हैं। श्री सिब्बल आज यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि श्री मोदी चाहते हैं कि वे राफेल रक्षा सौदे को देश की सुरक्षा से जुडा बताकर किसी भी तरह का भ्रष्टाचार करने में सफल हो जायेगें तो वे गलत सोचते हैं हम उन्हें ऐसा नही करने देंगे। उन्होंने राफेल सौदे मामले को बोफर्स तोप सौदे मामले से तुलना करने पर आपत्ति लेते हुये कहा कि बोफर्स मामला एक राजनीतिक षड्यंत्र था।

सांसदों ने की पुरुष आयोग के गठन की मांग, NCW ने कहा कि सबको अपनी मांग रखने का अधिकार

जिसमें दशकों तक चली जांच और राजनीति के बाद अंतत: न्यायालय ने इस मामले में सबको बरी कर दिया। जबकि राफेल सौदा मामला प्रथम ²ष्टया ही मजबूती से एक बड़े भ्रष्टाचार और एक देश के बड़े उद्योगपति की निजी कम्पनी को अवैध फायदा पहुँचने की कवायद के रूप में सीधे समाज आ रहा हैं। उन्होंने कहा कि विपक्ष के प्रति केंद्र सरकार की जवाबदेही हैं। आखिर क्यों श्री मोदी सीधी बात न करते हुये इधर उधर की बात कर रहे है।

विधायक बनने से पहले तक PM मोदी के पास नहीं था कोई ऑपरेशनल बैंक खाता

उन्होंने राफेल सौदे से जुड़े कुछ दस्तावेज दिखाते हुये दावा किया कि यहाँ कहना बिल्कुल गलत हैं कि इस सौदे में लड़ाकू विमान के साथ अतिरिक्त फीचर का अतिरिक्त भुगतान किया जा रहा हैं। उन्होंने कहा इस सौदे के अनुबंध में स्पष्ट लिखा हैं की विमान के साथ अन्य एसेसिरिज और फीचर वहीं रहेंगे, जो हमारे द्वारा वर्ष 2008 में की गयीं डील में थे।

राफेल डील के तथ्यों की जानकारी के लिए JPC बनाई जानी चाहिए: प्रियंका

योगी ने आधी रात तक किया वाराणसी में विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.