खाद्यान्न उत्पादन में होगी बढ़ोत्तरी, एमएसपी बढऩे से होगी फसल उत्पादकता में वृद्धि 

Samachar Jagat | Sunday, 08 Jul 2018 03:47:30 PM
Increase in foodgrain production,Increase in crop productivity by increasing MSP

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। देश का खाद्यान्न उत्पादन पिछले साल के रिकॉर्ड 27.95 करोड़ टन के उत्पादन को पार कर सकता है। कृषि सचिव शोभना पटनायक ने कहा कि मानसून बेहतर रहने , ऊंचे न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) तथा फसल उत्पादकता में संभावित वृद्धि के मद्देनजर उम्मीद है कि खाद्यान्न उत्पादन पिछले साल के स्तर को पार कर सकता है।  

कृषि सचिव ने भरोसा जताया कि आगामी सप्ताहों में बुवाई रफ्तार पकड़ेगी, जो अभी पीछे चल रही है। उत्पादक राज्यों में बारिश अच्छी रहने की संभावना है।  इसके अलावा पिछले सप्ताह सरकार ने 14 खरीफ फसलों का एमएसपी बढ़ाने की घोषणा की है।

इससे किसान बुवाई बढ़ाने को प्रोत्साहित होगा। उन्होंने कहा कि देश के कुछ हिस्सों में बारिश कम रहने की वजह से अभी तक खरीफ की मुख्य फसल धान की बुवाई पिछले साल की तुलना में कम है।

भाजपा जम्मू-कश्मीर में नहीं बनाएगी सरकार, राज्यपाल शासन जारी रहेगा

खरीफ फसल की बुवाई जून से शुरू होती है जबकि कटाई अक्टूबर से शुरू की जाती है। पटनायक ने बताया कि बुवाई क्षेत्रफल में कमी की भरपाई आगामी सप्ताहों में हो जाएगी। हम निश्चित रूप से पिछले साल के उत्पादन स्तर को पार करेंगे।

कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार पिछले सप्ताह तक सभी खरीफ फसलों का बुवाई क्षेत्रफल 333.76 लाख हेक्टेयर था, जो इससे पिछले साल की समान अवधि के 388.89 लाख हेक्टेयर से 14.17 प्रतिशत कम है।

अभी तक धान का बुवाई क्षेत्र 15 प्रतिशत कम 67.25 लाख हेक्टेयर है, जो पिछले साल इसी अवधि में 79.08 लाख हेक्टेयर था। इसी तरह दलहन का बुवाई क्षेत्र 20 प्रतिशत घटकर 33.60 लाख हेक्टेयर है, जो पिछले साल 41.67 लाख हेक्टेयर था।

अब हजयात्रियों के लिए सौगात, घर बैठे कर सकेंगे बुकिंग की पुष्टि

ये आंकड़े पिछले सप्ताह तक के हैं।  मोटे अनाज का बुवाई क्षेत्र भी 13.45 प्रतिशत घटकर 57.35 लाख हेक्टेयर पर है , जो पिछले साल की इसी अवधि में 66.27 लाख हेक्टेयर था।

तिलहन का बुवाई क्षेत्र 13.42 प्रतिशत घटकर 73.45 लाख से 63.59 लाख हेक्टेयर रह गया।  नकदी फसलों में कपास का बुवाई क्षेत्र 24 प्रतिशत कम यानी 54.60 लाख हेक्टेयर रहा है। एक साल पहले इसी अविध में यह 71.82 लाख हेक्टेयर पर था। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.