भारत सरकार को लगा झटका, जाकिर नाइक का मलेशिया से प्रत्यर्पण नहीं होगा

Samachar Jagat | Friday, 06 Jul 2018 06:23:27 PM
Indian Government felt shock, Zakir Naik will not be extradited from Malaysia

क्वालालंपुर । मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने गुरुवार को  कहा  है कि अगर विवादास्पद भारतीय इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक ने मलेशिया में कोई समस्या पैदा नहीं की तो उसे वापस भारत नहीं भेजा जाएगा। क्योंकि उन्हें स्थाई निवासी का दर्जा मिला हुआ है।

भारत ने जनवरी में नाइक को स्वदेश भेजने का औपचारिक अनुरोध किया था। वह भारत में नफरत फैलाने वाले अपने भाषणों से युवाओं को आतंकवादी गतिविधयों के लिए कथित रूप से उकसाने के सिलसिले में वांछित है।

दोनों देशों में प्रत्यर्पण संधि है। क्वालालंपुर के बाहर प्रशासनिक राजधानी पुत्राजय में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान नाइक को भारत भेजने के बारे में एक एक सवाल पर महातिर ने कहा है कि जब तक वह कोई समस्या पैदा नहीं कर रहा , हम उसे वापस नहीं भेजेंगे।

अमेरिकी विदेश मंत्री उत्तरी कोरिया पहुंचे, उत्तर कोरिया परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर उत्साहित

इसका मुख्य कारण उसे गैर नागरिक स्थायी निवासी का दर्जा दिया गया है। मलेशिया के गृहमंत्री मुहीउद्दीन यासीन ने भी इससे पहले कहा था कि अगर नाइक ने देश का कोई कानून तोड़ा तो उसे मलेशियाई प्रशासन को उसका जवाब देना होगा।

मलेशियाई मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार मलेशिया के पुलिस महानिरीक्षक मोहम्मद फुजी हारून ने इन संभावनाओं को खारिज किया था कि नाइक को भारत भेजा जाएगा।

मलेशियाई मीडिया की इन रिपोर्टों के बाद नाइक ने एक बयान में कहा था कि वह उस वक्त तक भारत नहीं लौटेगा जब तक वह कोई अनुचित अभियोजन से खुद को सुरक्षित नहीं  महसूस करता।

पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को दस साल की सजा, मरियम को सात साल की कैद

उल्लेख है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आतंकवाद और धनशोधन के अरोपों के तहत नाइक के खिलाफ जांच की थी। वह दो साल पहले जुलाई में भारत से चला गया था।  

एनआईए ने सबसे पहले 2016 में आतंकवाद निरोधी कानून के तहत विभिन्न धार्मिक समूहों के बीच कथित रूप से दुश्मनी बढ़ाने के सिलसिले में एक मामला दर्ज किया था।  बाद में एनआईए और मुंबई पुलिस ने नाइक के न्यास के कुछ पदाधिकारियों के आवासीय परिसर समेत मुंबई में 10 स्थानों पर छापे मारे थे।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.