ईरान भारत का विश्वसनीय ऊर्जा साझेदार 

Samachar Jagat | Tuesday, 10 Jul 2018 08:09:31 PM
Iran's trusted energy partner of India

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। अमेरिका द्वारा ईरान पर नए सिरे से लगाए गए प्रतिबंधों के परिप्रेक्ष्य में ईरान के उपराजदूत मसूद रिजवैनियन ने भरोसा दिलाया है कि उनका देश भारत का विश्वसनीय ऊर्जा साझेदार है तथा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई दोनों देशों का साझा ध्येय हैं।

अब युवाओं का और रोजगार बढ़ेगा

मसूद ने मंगलावार को यहां एक कार्यक्रम में कहा कि ईरान भारत तथा अन्य देशों का विश्वसनीय ऊर्जा साझेदार है। वर्ष 2012 से 2015 के बीच ईरान ने भारत की ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करने का हरसंभव प्रयास किया। उसने दीर्घावधि ऋण पर भारत को कच्चे तेल की आपूर्ति की और मूल्य भी कम रखा।

उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब अमेरिका ने करीब तीन साल पहले दुनिया के अन्य ताकतवर देशों के साथ मिलकर ईरान के साथ किए गए समझौते से खुद को अलग कर लिया है तथा संयुक्त वृहद कार्ययोजना पर विराम लगाते हुए वह अन्य देशों पर भी ईरान से कच्चा तेल न खरीदने का दबाव बना रहा है।

अखिल भारतीय अल्पसंख्यक मोर्चा द्वारा वैश्विक कूटनीति में उभरती हुई चुनौतियां एवं अवसर तथा भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों पर इसका असर विषय पर आयोजित एक सेमिनार में मसूद ने कहा कि भारत ने प्रतिबंध के दिनों में ईरान की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित की थी - विशेषकर चावल, चाय और सोया जैसे खाद्य पदार्थ उपलब्ध करा कर।

थाईलैंड नाव दुर्घटना में मृतकों की संख्या 44 तक पहुंची

उन्होंने कहा कि तरल प्राकृतिक गैस दोनों देशों के बीच सहयोग का एक अन्य क्षेत्र हो सकता है। ईरानी उपराजदूत ने कहा कि आतंकवाद से मुकाबला भी दोनों देशों का साझा ध्येय है।

मसूद ने चाबहार बंदरगाह के विस्तार के संदर्भ में भारत को उसके वायदे की याद दिलाते हुए कहा कि यह काम अभी तक पूरा नहीं हुआ है। यह रणनीतिक महत्त्व का बंदरगाह है।

जापान: मूसलाधार बारिश का कहर, बाढ़ में 112 लोगों की मौत

उन्होंने क्षेत्रीय अनाक्रमण संधि की वकालत करते हुए कहा कि कोई भी देश तभी तक सुरक्षित है जब तक कि क्षेत्र में सुरक्षा कायम है। हम मिलकर अनाक्रमण संधि की पहल कर सकते हैं। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.