कश्मीर मुद्दा: गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कांग्रेस को इसमें राजनीति दिखती है, हमें देशभक्ति

Samachar Jagat | Monday, 23 Sep 2019 11:25:46 AM
Kashmir issue: Home Minister Amit Shah said Congress sees politics in this, we feel patriotic

इंटरनेट डेस्क। भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मुंबई में एक रैली को संबोधित करते हुए कश्मीर का भारत में एकीकरण नहीं करने को लेकर नेहरू पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अगर नेहरू ने बेवक्त पाकिस्तान के साथ संघर्ष विराम की घोषणा नहीं की होती तो पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर अस्तित्व में नहीं आता। नेहरू की जगह सरदार पटेल को कश्मीर का मुद्दा अपने हाथ में लेना चाहिए था। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद देवेंद्र फडणवीस दोबारा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनेंगे। पिछले 2-3 दिन से कांग्रेस और एनसीपी वाले कहते हैं कि ये नहीं हुआ तो जीत जाएंगे, वो नहीं हुआ तो जीत जाएंगे।

मद्रास उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश का इस्तीफा स्वीकार

मैं कहना चाहता हूं कि कुछ भी हो जाए महाराष्ट्र में एनडीए की सरकार तीन चैथाई बहुमत के साथ बनाना तय है। शाह ने कहा कि हम अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाने के लिए समर्पित कार्यकर्ता रहे हैं। जब से अनुच्छेद 370 और 35ए अस्तित्व में आई तब से जनसंघ और भाजपा ने इसका विरोध किया है। डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी कश्मीर गए, उस समय वहां जाने के लिए परमिट की जरुरत पड़ती थी। लेकिन वो बिना परमिट के गए, उन्हें शेख अब्दुल्ला द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया और वहीं संदिग्ध परिस्थितयों में उनकी मृत्यु हो गई। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, राहुल बाबा तो आजकल आए हैं । 

चुनाव घोषणा के बाद भाजपा की बैठक

राजनीति में. हमारी 3-3 पीढ़ियां कश्मीर के लिए अपना बलिदान देने से कभी पीछे नहीं हटी। कांग्रेस को इसमें राजनीति दिखाई देती है और हमें इसमें देशभक्ति दिखती है. कश्मीर को भारत में मिलाने का मसला जवाहल लाल नेहरू ने खुद संभाला था। सरदार पटेल ने जिन भी रियासतों को भारत में शामिल करने का जिम्मा अपने हाथ में लिया, उन सभी में सफलता प्राप्त की। एक ही मामला नेहरू जी के हाथ में था, उसे भी वो पूरा नहीं कर पाए। इसके अलावा उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 के कारण देश में आतंकवाद आया, इसने पाकिस्तान को अलगाववाद भड़काने का साधन दिया। इसके बाद ही कश्मीर से कश्मीरी पंडितों, सूफी-संतों को निकाल दिया गया। अनुच्छेद 370 के कारण आतंकवाद चरम पर पहुंचा और अब तक 370 के कारण करीब 40,000 लोग मारे गए हैं, और कांग्रेस पूछती है कि 370 को क्यों हटाया गया। मोदी जी ने 370 और 35ए को हटाया है, अब अपना ये मुकुटमणि कश्मीर आतंकवाद से मुक्त होकर विकास के रास्ते पर चल पड़ेगा, मैं ये विश्वास महाराष्ट्र की जनता को दिलाता हूं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.