आशुतोष के बाद अब 'आप’ के खेतान भी हुए सक्रिय राजनीति से अलग, बताईं ये वजह 

Samachar Jagat | Wednesday, 22 Aug 2018 01:02:35 PM
Khaitan left aap party

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता आशुतोष के बाद अब आशीष खेतान ने भी खुद को सक्रिय राजनीति से अलग कर लिया है। दोनों ही नेताओं ने इसके लिए 'निजी कारणों’ को जिम्मेदार ठहराया है। खेतान ने बुधवार को कहा कि वे वकालत के पेशे पर ध्यान केन्द्रित करना चाहते हैं।

उन्होंने स्पष्ट किया कि इस वजह से उन्हें सक्रिय राजनीति से अलग रहना पड़ेगा। गौरतलब है कि गत लोकसभा चुनाव में आशुतोष ने दिल्ली की चांदनी चौक और खेतान ने नई दिल्ली सीट से बतौर आप उम्मीदवार चुनाव लड़ा था।

आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर पार्टी द्बारा पांच सीटों के लिए चयनित प्रभारियों में इन दोनों का नाम शामिल नहीं किए जाने को भी इनकी नाराजगी की वजह बताया जा रहा है। खेतान ने पार्टी से इस्तीफा देने संबंधी मीडिया में आई खबरों के बारे में स्पष्टीकरण देते हुये ट्वीट कर कहा कि मैंने वकालत शुरु करने के लिये ही गत अप्रैल में दिल्ली संवाद आयोग (डीडीसी) के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था।

उन्होंने सिर्फ इसी एक वजह को हकीकत बताते हुए कहा कि बाकी सब अफवाह है। इन अफवाहों में उनकी कोई रुचि नहीं है। इससे पहले 15 अगस्त को ही आशुतोष ने भी 'नितांत निजी कारण’ बताते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया था।

हालांकि उसी दिन आप संयोजक अरविद केजरीवाल ने आशुतोष के इस फैसले से असहमति जताते हुए कहा था कि उन्हें पार्टी से अलग नहीं होने के लिए मना लिया जाएगा। केजरीवाल की अध्यक्षता वाली पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) इन नेताओं के इस्तीफ़े पर अंतिम फैसला करेगी।

केजरीवाल के एक सहयोगी ने बताया कि हाल ही में हुई पीएसी की बैठक में इस बारे में कोई फैसला नहीं हुआ। हालांकि उन्होंने दोनों नेताओं की निजी कारणों की दलील से सहमति जताते हुये कहा कि संगठन के लिये सक्रिय तौर पर काम नहीं कर पाने की इनकी मजबूरी को समझते हुये पार्टी नेतृत्व दोनों नेताओं से आप से अलग होने के बजाय पार्टी से जुड़े रहने की अपील कर सकता है। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.