मस्जिदों-मंदिरों पर लाउस्पीकर लगाने को लेकर न्यायालय गंभीर

Samachar Jagat | Thursday, 12 Apr 2018 10:19:08 AM
Lauspeakers on mosques-temples Court grants serious allegation

इलाहाबाद। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मस्जिदों एवं मंदिरों पर लाउडस्पीकर बजाने को गंभीरता से लेते हुए दोनों के धर्मगुरूओं को पक्षकार बनाने को कहा है। न्यायालय ने कहा है कि प्राइवेट पक्षकारों को नोटिस जारी किया जाए ताकि वे न्यायालय में आकर बतायें कि लाउडस्पीकर का मस्जिदों एवं मंदिरों पर प्रयोग क्यों जरूरी है। न्यायालय ने यह आदेश पारित करने से पूर्व इसको लेकर हो रही परेशानियों का भी जिक्र किया।

मध्यप्रदेश में पत्रकारों की कैशलेस उपचार सीमा होगी चार लाख रूपये: चौहान

न्यायालय ने इस मामले को जनहित याचिका के रूप में स्वीकार करते हुए सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड तथा अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद को नोटिस जारी की है। न्यायालय ने धार्मिक संस्थाओं समेत राज्य सरकार से पूछा है कि क्या धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर लगाना धार्मिक अनिवार्यता है। इस पर क्यों न फिर से विचार हो।

न्यायालय का मानना था कि इससे आसपास के रहने वाले लोगों को परेशानी होती है और इनकी सुनवाई कोई नहीं करता। न्यायालय ने राज्य सरकार से पूछा है कि लाउडस्पीकर की ध्वनि से प्रदूषण की समस्या का कैसे निवारण किया जाए। अदालत ने सभी पक्षों से दो मई 2018 तक जवाब मांगा है।

राष्ट्रहित में भाजपा को रोकना जरूरी: अखिलेश

मुख्य न्यायमूर्ति डी.बी.भोसले एवं न्यायमूर्ति सुनीत कुमार की खण्डपीठ ने अमरोहा के जुमैद खान की याचिका की सुनवाई करते हुए आज यह आदेश दिया। याचिका में मस्जिद पर लगे स्पीकर को हटाने की दी गयी नोटिस की वैधता को चुनौती दी गयी है। नोटिस में बिना प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की अनुमति लिए स्पीकर नहीं लगाने का निर्देश दिया गया है।-एजेंसी

किसान हितैषी पंजाब सरकार के पास ‘पूर्णकालिक कृषि मंत्री’ नहीं : भाजपा

नौवहन उपग्रह आईएनआरएसएस-1आई अपनी कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित

लोकतंत्र सिर्फ एक शासन प्रणाली नहीं है : मनमोहन सिंह 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.