मसूद अजहर आज घोषित हो सकता है अंतरराष्ट्रीय आंतकी, प्रतिबंध लगते ही होगी बड़ी कार्रवाई

Samachar Jagat | Wednesday, 13 Mar 2019 08:50:34 AM
Masood Azhar may be declared today International Intestine The ban will take great action

इंटरनेट डेस्क: बुधवार को एक अहम मुद्दा देशभर में छाया रहेगा जिसमें आतंकी संगठन जैश.ए.मोहम्मद के चीफ  मसूद अजहर पर  शिकंजा कसने की पूरी तैयारी भारत की र्और से कर ली है इससे पहले भी भारत हर मुमकिन कोशिश करते आ रहा है खबरों की माने तो अलकायदा प्रतिबंध समिति में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद यूनएससी के किसी भी सदस्य द्वारा कोई आपत्ति नहीं जताई गई तो आज होने वाली बैठक में उसपर प्रतिबंध लगाया जा सकता है आपकों बतादें की इस तरह का प्रस्ताव पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद जैश.ए.मोहम्मद ;जेएएम के खिलाफ  अमेरिका, ब्रिटेन और फ ्रांस द्वारा प्रस्ताव लाने पर किया गया है जिसकी जिम्मेदारी जेएएम ने ली थी 

Old Post Image

 


इससे पहले भी आंतकी के खिलाफ प्रस्ताव लाया गया था, सूत्रों की माने तो पठानकोट में हुए आतंकी हमले के बाद से मसूद अजहर के खिलाफ  चौथी बार प्रस्ताव लाया गया है ऐसे में जो भी प्रस्ताव लाएं गए थे उन पर चीन द्वारा रोक लगा दी थी सूत्रों की माने तो चीन का तर्क है कि मसूद अजहर को जेएएम से ताल्लुक रखने के पर्याप्त सबूत या जानकारी नहीं है पर भारत ने भी कई सबूत सामने रखें है इसके बावजूद चीन अपने इस तर्क पर अड़ा है

Old Post Image

जानकारी अनुसार संयुक्त राष्ट्र में भारत के पूर्व स्थाई प्रतिनिधि अशोक मुखर्जी ने समझाते हुए इस प्रक्रिया को कहा की अगर साईलेंस पीरियड जिसमें सुरक्षा परिषद का कोई सदस्य इस मुद्दे पर आपत्ति उठाता सकता है, तो मसूद अजहर को 1267 प्रतिबंध सूची में शामिल करना आसान होगा इसके बाद प्रतिबंध समिति द्वारा उसे सूची में रखे जाने के बाद काउंसिल द्वारा इसे अनुमोदित कर दिया जाएगा, आपकों बतादेें की प्रतिबंध समिति के सदस्य और सुरक्षा परिषद में समान 15 देश शामिल है, सभी सदस्य राज्यों को फैक्स या आपत्ति पत्र परिषद को भेजना है,् इसके लिए कोई बैठक नहीं होनी यदि कोई आपत्ति नहीं है तो आज बुधवार को 3 बजे के बाद अजहर अपने आप प्रतिबंधित या सूचीबद्ध हो जाएगा

Old Post Image

इसके बाद परिषद की औैर से एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की जाएगी, लेकिन अगर प्रस्ताव पर तकनीकी रोक लगाई जाती है तो इसपर कोई औपचारिक घोषणा नहीं की जा सकती है


वैसे आपकों बतादें की भारत ने मसूद अजहर का संबंध जेएएम से होने के सबूत टेप के रूप में  सामने रखे है जो यूएनएससी को सौंपे गए है जैश प्रमुख के रूप में मसूद अजहर के बोलने के ऑडियो टेप भी प्रस्तुत किए गया है लेकिन इसके बावजूद, प्रस्ताव पर चीन की प्रतिक्रिया में बहुत कम बदलाव नजर आता दिख रहा है
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.