08 मई : बस एक क्लिक में पढ़िए, दिनभर की 10 बड़ी खबरें

Samachar Jagat | Wednesday, 08 May 2019 04:32:01 PM
May 08: Read in just one click, 10 big news a day

सुप्रीम कोर्ट का आचार संहिता उल्लंघन के मामले में कांग्रेस सांसद की याचिका पर सुनवाई से इनकार 



नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन के मामले में प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई के लिए कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव की याचिका पर बुधवार को सुनवाई से इनकार कर दिया।

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने असम के सिलचर से कांग्रेस की सांसद सुष्मिता देव की इस याचिका पर सुनवाई से इंकार करते हुए उन्हें मोदी और शाह द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान आचार संहिता के उल्लंघन संबंधी शिकायतों को अस्वीकार करने के निर्वाचन आयोग के आदेशों के खिलाफ नयी याचिका दायर करने की अनुमति प्रदान कर दी।

शीर्ष अदालत ने सोमवार को ही सुष्मिता देव से भाजपा नेताओं को क्लीन चिट देने संबंधी निर्वाचन आयोग के आदेश रिकार्ड पर लाने के लिए कहा था। पीठ ने बुधवार को कहा कि निर्वाचन आयोग ने आचार संहिता के उल्लंघन के बारे में शिकायतों पर सही या गलत फैसला कर लिया है। ऐसी स्थिति में इन आदेशों को चुनौती देने के लिए नई याचिका दायर करनी होगी।

निर्वाचन आयोग की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राकेश द्बिवेदी ने कहा कि आचार संहिता के उल्लंघन के बारे में निर्वाचन आयोग को प्रतिवेदन देने वाले व्यक्ति इन आदेशों के खिलाफ नहीं आए हैं। दूसरी ओर, सुष्मिता देव की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि निर्वाचन आयोग ने मोदी और शाह के खिलाफ शिकायतें खारिज करते हुए कोई कारण नहीं बताए हैं।

सुप्रीम कोर्ट में बिना शर्त राहुल गांधी ने मांगी माफी, SC का गलत हवाला लेकर कहा था 'चौकीदार चोर है'

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोर्ट के अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त माफी गांगी है। इसके साथ की सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है। इस हलफनामा दाखिल करते हुए राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है कि अब अवमानना मामले को बंद कर देना चाहिए। हालांकि इससे पहले राहुल गांधी ने सिर्फ खेद जताया था। अब इस मामले पर दस मई को सुनवाई होगी। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि गलती से चौकीदार चोर है नारा कोर्ट के आदेश के साथ मिलाकर ​बोल दिया था। 

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष ने सुप्रीम कोर्ट के हवाले से कहा था कि अब तो कोर्ट ने भी मान लिया कि चौकीदार चोर है। राहुल ने तीन पेज का हलफनामा दाखिल करते हुए बिना किसी शर्त के माफी मांग ली है। अपने माफीनामे में राहुल गांधी ने कहा कि कोर्ट का अपमान करने की उनकी कोई मंशा नहीं थी। ना ही उन्होंने जानबूझ कर ऐसा किया। ना ही अदालत की न्यायिक प्रक्रिया में वो किसी तरह की बाधा पहुंचाना चाहते थे। 

इसके बाद राहुल गांधी ने कहा कि भूलवश उनसे ये गलती हो गई। लिहाजा इसके लिए वो क्षमा चाहते हैं। उनके बिना शर्त माफीनामा को कोर्ट स्वीकार करते हुए उन्हें इस भूल के लिए क्षमा किया करे। अब सुप्रीम कोर्ट इस माफीनामे को स्वीकार कर केस को बंद करे। 

यह है पूरा मामला
राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए पेश हुए दस्तावेजों की सत्यता स्वीकार की थी। इसके बाद राहुल गांधी ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया है कि चौकीदार ही चोर है। सुप्रीम कोर्ट ने माना है कि राफेल मामले में कोई न कोई भ्रष्टाचार जरूर हुआ है। 

इस मामले पर भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी ने सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दाखिल की थी। इस याचिका पर संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने कहा कि हमने उन शब्दों का इस्तेमाल कभी नहीं किया जो कि राहुल गांधी ने कहा।

श्रीलंका में विस्फोटों में 200 बच्चों ने अपने परिवार के सदस्यों को खोया

कोलंबो। श्रीलंका में ईस्टर रविवार को हुए सिलसिलेवार बम विस्फोटों में करीब 200 बच्चों ने अपने परिवार के सदस्यों को खोया है। उनमें से कुछ तो अपने परिवार में अकेले कमाने वाले थे। श्रीलंका रेड क्रॉस सोसाइटी (एसएलआरसीएस) ने बताया कि कुछ परिवारों ने अपने घर के कमाने वालों को ही खो दिया है और उनके पास जीवन जीने के लिए शायद पर्याप्त धनराशि नहीं है।

देश में ईस्टर के मौके पर तीन गिरजाघरों और तीन लग्जरी होटलों समेत अलग अलग स्थानों पर नौ विस्फोट हुए थे जिनमें 250 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। मृतकों में 10 भारतीय समेत 40 विदेशी शामिल हैं। आतंकी संगठन आईएस ने हमले की जिम्मेदारी ली है, लेकिन सरकार ने स्थानीय चरमपंथी समूह नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) को धमाकों के लिए दोषी बताया है।

कोलंबो गजट ने एसएलआरसीएस के हवाले से कहा है कि विस्फोट में घायल होने की वजह से 75 परिवारों की आजीविका प्रभावित हुई है, क्योंकि विस्फोट में उनके परिवार का कोई न कोई सदस्य जख्मी हुआ है। खबर में बताया गया है कि उनमें से कुछ लोग तो जख्मों के कारण काम पर नहीं जा पाएंगे तो कुछ घायल तो कुछ शारीरिक तौर पर अक्षम हो गए हैं। एसएलआरसीएस ने कहा कि घटना से सीधे तौर पर प्रभावित हुए लोगों, चश्मदीदों और अपनों को खोने वाले परिवारों को 'मनोवैज्ञानिक प्राथमिक उपचार’ (पीएफए) देने की जरूरत है।

पाकिस्तानी लड़कियों का तस्करी मामला: चीन ले जाने के आरोप में 13 चीनी नागरिक समेत 17 गिरफ्तार

लाहौर। पाकिस्तानी लड़कियों को कथित तौर पर बहला-फुसलाकर उनसे फर्जी शादी करने और फिर चीन ले जाकर उन्हें वेश्यावृत्ति में धकेल देने के मामले में 13 चीनी नागरिकों सहित कुल 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) ने मंगलवार को सात लोगों को गिरफ्तार किया।
 

इनमें तीन चीनी नागरिक हैं। ये लोग एक मानव तस्करी गिरोह के सदस्य हैं। जियो न्यूज की खबर के अनुसार एफआईए रावलपिडी ने इन लोगों को गिरफ्तार किया जिसका सरगना एक चीनी नागरिक है। इससे पहले सोमवार को एक महिला सहित कम से कम 10 चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था। 

एफआईए ने सोमवार को एक महिला सहित आठ चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया, जबकि दो चीनी नागरिकों को उस समय गिरफ्तार किया गया जब लाहौर से करीब 150 किलोमीटर दूर फैसलाबाद में एक शादी हो रही थी। एफआईए पंजाब के निदेशक तारिक रुस्तम ने पीटीआई से कहा कि वेश्यावृत्ति के उद्देश्य से पाकिस्तानी लड़कियों को तस्करी कर चीन ले जाने के मामले में सोमवार को हमने सात चीनी पुरुषों के साथ एक चीनी महिला को गिरफ्तार किया।

एजेंसी इन खबरों के बाद हरकत में आई कि चीनी नागरिक अंगों की खरीद-फरोख्त और पाकिस्तानी लड़कियों, ज्यादातर ईसाई समुदाय से, को शादी कर चीन ले जाने के बाद जबरन वेश्यावृत्ति के धंधे में धकेलने जैसे कृत्यों में लिप्त हैं। रुस्तम ने बताया कि इन चीनी नागरिकों का सरगना कैंडिस भी गिरफ्तार लोगों में शामिल है।

वह पिछले एक साल से लाहौर हवाईअड्डे के पास रह रहा था। उन्होंने कहा कि लड़कियों को चीनी नागरिकों द्बारा लाहौर में किराए पर लिए गए मकानों में ले जाया जाता था। चीन जाने से पहले और शादी के दस्तावेज पूरे होने के बाद उन्हें चीनी भाषा सिखाई जाती थी। चीन में लड़कियों को जबरन वेश्यावृत्ति में धकेल दिया जाता था।

रुस्तम ने कहा कि पिछले कुछ साल में चीन ले जाई गई लड़कियों से संबंधित आंकड़े एकत्र किए जा रहे हैं। उनकी संख्या सैकड़ों में हो सकती है। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार चीनी नागरिकों से पूछताछ की जा रही है और उम्मीद है कि अपराध में शामिल सभी लोग गिरफ्तार होंगे। पाकिस्तान सरकार ने हाल में एफआईए को निर्देश दिया था कि वह शादी के नाम पर पाकिस्तानी लड़कियों को तस्करी कर चीन ले जाने में शामिल गिरोहों के खिलाफ कार्रवाई करे।

मूवी भारत का ये गीत गुरुवार को होगा रिलीज, सलमान खान और कटरीना कैफ आएंगे नजर 

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान की बहुप्रतीक्षित फिल्म भारत का एक और गीत गुरुवार को रिलीज होगा। इस गीत का नाम'ऐथे आ’है और यह कटरीना कैफ और सलमान खान पर फिल्माया गया है। सलमान की आने वाली फिल्म भारत ईद के मौके पर पांच जून को रिलीज होगी।

बताया जा रहा है कि फिल्म में सलमान खान पांच अलग-अलग लुक में नजर आएंगे, जिनमें वह 18 साल के जवान लड़के से लेकर 70 साल के वृद्ध तक का किरदार निभाते दिखेंगे। फिल्म का तीसरा गीत ऐथे आ कल यानी गुरुवार को रिलीज होने वाला है। गाने के गुरुवार को रिलीज होने की जानकारी खुद सलमान ने सोशल मीडिया पर गाने की एक फोटो शेयर करके दी है।

सलमान खान ने फोटो शेयर करते हुए लिखा,शादी वाला गाना कल रिलीज होगा। यह फिल्म भारत का तीसरा गाना है। इससे पहले स्लो मोशन और चाशनी गाना रिलीज हो चुका है। भारत फिल्म के प्रोड्यूर्सस ने बुधवार सुबह फिल्म की एक फोटो भी शेयर की है। यह फोटो स्लो मोशन गाने की शूटिग के दौरान ली गई है।

गौरतलब है कि फिल्म में सलमान खान और कटरीना कैफ के साथ सुनील ग्रोवर, दिशा पाटनी और तब्बू अहम भूमिका निभाते नजर आने वाले हैं। फिल्म का ट्रेलर लोगों को काफी पसंद आया है। अब सभी फिल्म के रिलीज होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

होने जा रहा है बॉक्स ऑफिस पर कंगना और ऋतिक का आमना-सामना

एंटरटेमेंट डेस्क। बॉलीवुड अभिनेता ऋतिक रोशन और कंगना रनौत एक बार फिर से आमने—सामने होने वाले है। लेकिन इस बार वे टिकट खिड़की पर। दरअसल, कंगना रनौत की फिल्म 'मेंटल है क्या' की रिलीज डेट टालकर अब 26 जुलाई कर दी है। तो वहीं जनवरी में ऋतिक रोशन ने घोषणा की थी कि उनकी फिल्म 'सुपर 30' 26 जुलाई को रिलीज होगी। 
 

कंगना रनौत की फिल्म मेंटल है क्या की प्रोड्यूसर एकता कपूर की बालाजी मोशन पिक्चर्स ने कहा है कि यह भिडंत जानबूझकर नहीं की गई है। उन्होंने वितरकों, व्यापार विश्लेषकों और उनकी शोध टीम की सिफारिशों के बाद रिलीज की तारीख को 21 जून से 26 जुलाई करने का निर्णय लिया गया है। 

प्रोडक्शन बैनर ने अपने बयान में कहा गया है कि हमें अपनी फिल्म की रिलीज 26 जुलाई को करने की सलाह दी गई। वो भी पूरी तरह व्यावसायिक संभावनाओं के आधार पर। यह जानने पर कि उस दिन एक और फिल्म रिलीज हो रही है तो हमने अपने दायरे के अंदर यह सुनिश्चित किया कि कोई किसी तरह कीचड़ ना उछाले और यह सम्मानजनक रिलीज हो। 

कंगना की फिल्म की रिलीज डेट को बदलने की घोषणा के बाद कई पोर्टलों और सोशल मीडिया पर यूजर्स ने इसे जानबूझकर बदलने की बात कही। तो वहीं इसके बाद एकता कपूर ने इस बात की निंदा की। एकता ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मेरा फैसला, मेरी फिल्म इसलिए कृपया सारी आलोचना मेरी कीजिए।’’ 

गौरतलब है कि इससे पहले खबरे आ रही थी कि ऋतिक रोशन की फिल्म सुपर 30 की टीम रिलीज की तारीख 9 अगस्त के लिए टाल रही है। लेकिन अभी तक इस प्रकार की कोई औपचारिक घोषणा नहीं हुई है। 

विश्व कप से पहले ऑस्ट्रेलिया को लगा बड़ा झटका, यह खतरनाक गेंदबाज हुआ बाहर

स्पोटर्स डेस्क। विश्व कप 30 मई से इंग्लैंड-वेल्स की सरजमी पर खेला जाना है। लेकिन इससे पहले ऑस्ट्रेलिया को एक बडा झटका लग गया है। ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज झाए रिचर्डसन कंधे की चोट के कारण पूरे टूर्नामेंट से बाहर हो गए है। झाए रिचर्डसन की जगह क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने केन रिचर्डसन को टीम में शामिल किया गया है। 
आपको बता दें कि झाय रिचर्डसन मार्च में शारजाह में पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय मैच के दौरान चोटिल हो गए थे। उनको दाएं कंधे में चोट लगी थी। इससे पहले उन्होंने भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया को 3-2 से वनडे सीरीज जिताने में अहम किरदार निभाया था। झाय ने 5 मैचों में 7 विकेट चटकाए थे। 

झाए रिचर्डसन ने अब तक खेले महज 12 वन-डे में 26 विकेट चटकाए। ऑस्ट्रेलिया टीम के फिजियो डेविड बेकली ने कहा है कि यह स्पष्ट रुप से टीम के लिए और झाए रिचर्डसन के लिए बहुत निराशाजनक खबर है। हाल ही में नेट्स में झाए के गेंदबाजी करने के बाद साफ हुआ कि उनकी चोट में उस तेजी से सुधार नहीं हो रहा जिसकी जरूरत है। सिलेक्टर्स से बातचीत के बाद हमनें वर्ल्ड कप टीम से उनका नाम वापस लेने का फैसला किया है। 
 

दअरसल, विश्व कप से पहले आस्ट्रेलिया को पहले 25 मई को इंग्लैंड और 27 मई को श्रीलंका के खिलाफ वॉर्म—अप मैच खेलेगी। विश्व कप में आस्ट्रेलिया अपने अभियान की शुरूआत एक जून से अफगानिस्तान के खिलाफ करेगी। 

पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन बोले, भारत विश्व कप नहीं जीतेगा तो निराशा होगी

मुंबई। पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन ने मंगलवार को भारत की विश्व कप टीम को संतुलित करार दिया और कहा कि खिताब जीतने के अलावा कोई अन्य नतीजा दो बार की चैंपियन टीम के लिए निराशाजनक होगा। विश्व कप ब्रिटेन में 30 मई से शुरू होगा। भारत ने 1983 और 2011 में विश्व कप जीता है।
अजहरूद्दीन ने कहा कि भारत के पास काफी अच्छा मौका है (विश्व कप में) क्योंकि हमारी टीम काफी संतुलित है। हमारे पास अच्छे गेंदबाज, अच्छे बल्लेबाज हैं और हमारा क्षेत्ररक्षण भी काफी अच्छा है और पिछले कुछ समय में इसमें काफी सुधार हुआ है। भारत की ओर से 99 टेस्ट खेलने वाले अजहरूद्दीन बांद्रा में एक सैलून के उद्घाटन के बाद बोल रहे थे। भारत विश्व कप में अपने अभियान की शुरुआत पांच जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करेगा।

उन्होंने कहा कि भारत अगर विश्व कप नहीं जीतेगा तो मुझे निराशा होगी और मैं उम्मीद कर रहा हूं कि हम कप जीतकर लाएंगे। विश्व कप 1992, 1996 और 1999 में भारत की अगुआई करने वाले अजहर का मानना है कि आईपीएल में रायल चैलेंजर्स बेंगलूर की ओर से खेलते हुए कप्तान विराट कोहली की खराब फार्म को अधिक तवज्जो नहीं देनी चाहिए।

आरसीबी की टीम टूर्नामेंट के लीग चरण से ही बाहर हो गई। अजहर ने कहा कि उतार-चढाव जीवन का हिस्सा हैं। लेकिन उसके रिकार्ड और आंकड़े को देखें तो चिंता की कोई बात नहीं है। मुझे लगता है कि उसने अपना सर्वश्रेष्ठ विश्व कप के लिए बचाकर रखा है।

अप्रैल में वाहनों की खुदरा बिक्री आठ प्रतिशत घटी

नयी दिल्ली।  वाहन उद्योग के लिए चालू वित्त वर्ष की शुरुआत नकारात्मक रही और देश में वाहनों की खुदरा बिक्री अप्रैल में आठ प्रतिशत घटकर 16,38,470 इकाई रह गयी। 
 

घरेलू ऑटोमोबाइल डीलरों के संगठन (फाडा) ने बुधवार को बताया कि अप्रैल में यात्री वाहनों की खुदरा बिक्री दो प्रतिशत घटकर 2,42,457 इकाई रह गयी जो पिछले साल 2,47,278 इकाई रही थी। वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 16 फीसदी घटकर 63,360 इकाई, तिपहिया वाहनों की 13 प्रतिशत घटकर 47,183 इकाई और दुपहिया वाहनों की नौ प्रतिशत की गिरावट के साथ 12,85,470 इकाई रही। 

फाडा के अध्यक्ष आशिष हर्षराज काले ने कहा कि निकट भविष्य के लिए भी वाहन उद्योग का परिदृश्य नकारात्मक से निरपेक्ष के बीच दिख रहा है। अभी खुदरा बिक्री को तत्काल प्रोत्साहित करने वाला कोई कारक नहीं है। अगले आठ से 12 सप्ताह तक बिक्री में गिरावट की स्थिति बनी रह सकती है। फाडा ने बताया कि डीलरों के पास मौजूदा इंवेंटरी अब भी ज्यादा है। यह डीलरों पर अतिरिक्त बोझ की तरह है और इसमें संतुलन बनाने की जरूरत है।

सेंसेक्स 487 अंक और टूटकर 38,000 अंक से नीचे आया

मुंबई। घरेलू शेयर बाजारों में बुधवार को लगातार छठे कारोबारी सत्र में गिरावट का सिलसिला जारी रहा और सेंसेक्स 487 अंक और टूट गया। निफ्टी भी 11,400 अंक के स्तर से नीचे आ गया। अमेरिका-चीन के बीच व्यापार विवाद से वैश्विक निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई। बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 487.50 अंक या 1.27 प्रतिशत के नुकसान से 37,789.13 अंक पर आ गया।
 

कारोबार के दौरान सेंसेक्स में 37,743.07 से 38,248.57 अंक के दायरे में घट बढ़ हुई। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 138.45 अंक या 1.20 प्रतिशत के नुकसान से 11,359.45 अंक पर आ गया। कारोबार के दौरान इसने 11,346.95 अंक का निचला स्तर तथा 11,479.10 अंक का उच्चस्तर भी छुआ।

सेंसेक्स की कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एसबीआई का शेयर 3.35 प्रतिशत तक नीचे आया। बजाज फाइनेंस, टाटा मोटर्स, बजाज आटो, सनफार्मा, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक, वेदांता, महिंद्रा एंड महिंद्रा, यस बैंक और ओएनजीसी के शेयरों में 3.22 प्रतिशत तक नुकसान दर्ज हुआ। 

वहीं दूसरी ओर एशियन पेंट्स, एचसीएल टेक और टीसीएस के शेयर 0.60 प्रतिशत तक चढ़ गए। कारोबारियों ने कहा कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापार को लेकर तनाव बढ़ने से वैश्विक शेयर बाजारों में गिरावट आई जिसका असर यहां भी दिखाई दिया। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को चीन के 200 अरब डॉलर के उत्पादों पर शुल्क बढ़ाने की चेतावनी दी है। ट्रंप की इस घोषणा के बाद से ही वैश्विक बाजारों में गिरावट का रुख है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.