न्यूनतम आय योजना भी राहुल का झूठ साबित होगी: बीजेपी 

Samachar Jagat | Monday, 01 Apr 2019 03:28:40 PM
Minimum income plan will prove to be a liar for Rahul: BJP

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को आदतन झूठ बोलने वाला राजनेता करार दिया और मध्यप्रदेश सहित विभिन्न राज्यों में किसानों की कर्ज़ माफी को लेकर उनके वादे को नहीं निभाने का आरोप लगाते हुए सोमवार को कहा कि कांग्रेस के न्यूनतम आय योजना के वादे का भी ऐसा ही हश्र होने वाला है।

बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यहां संवाददाताओं से कहा कि गांधी आदतन झूठ बोलने वाले नेता हैं और वह बहुत बेशर्मी एवं आत्मविश्वास से झूठ बोलते हैं। गांधी ने नवंबर 2018 में राजस्थान, छत्तीसगढ एवं मध्यप्रदेश विधानसभा के चुनावों में अनेक भाषणों में कहा था कि राज्य में कांग्रेस की सरकार बनते ही दस दिन के भीतर किसानों का ऋण माफ कर देंगे और किसी मुख्यमंत्री ने आनाकानी की तो मुख्यमंत्री बदल देंगे। 

चौहान ने कहा कि आज 104 दिन हो चुके हैं जबकि ना तो कर्ज़ माफ हुआ और ना ही मुख्यमंत्री बदला गया। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में दो लाख तक ऋण लेने वाले किसानों की कुल ऋण राशि करीब 48 हजार करोड़ रुपए है। लेकिन राज्य की कमलनाथ सरकार ने बजट में केवल पांच हजार करोड़ रुपए का आवंटन किया तथा सहकारी बैंकों को 600 करोड़ रुपए और अन्य बैंकों को 700 करोड़ रुपए जारी किये गये।

उन्होंने कहा कि 48 हजार करोड़ रुपए के एवज में केवल 1300 करोड़ रुपए जारी किए। पैसा ना धेला, सूरजकुंड का मेला। उन्होंने कहा कि दस मार्च को चुनाव आयोग द्वारा शाम पांच बजे लोकसभा चुनावों की घोषणा करने के साथ आदर्श आचार संहिता लागू हो गई और दिन में एक बजे से ही किसानों के मोबाइल फोन पर बैंकों का संदेश आने लगा कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत उनका ऋण आदर्श आचार संहिता समाप्त होने के बाद माफ किया जाएगा।

इसी के साथ किसानों को बैंकों से ऋण वसूली की चिठ्ठियां आने लगीं। उन्होंने कुछ किसानों के नाम एवं पते के साथ उदाहरण देते हुए कहा कि जिनके एक लाख रुपए के कर्ज़ थे, उन्हें 1042 और जिनमें डेढ लाख रुपए का ऋण था, उन्हें 1076 रुपए माफ किया गया। इससे किसान ना हंस पा रहा है और न ही रो पा रहा है।

यानी इस प्रकार से कांग्रेस ने किसानों को मूर्ख बनाने का काम किया है। उन्होंने यह भी कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री किसान निधि योजना के लिए पात्र किसानों की सूची नहीं भेजी है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार ने भाजपा सरकार के कार्यकाल में शुरु की गईं अनेक कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया है। बेटियों को आर्थिक मदद से लेकर गरीबों के लिए सात सुविधाओं वाली संबल योजना, छात्रवृत्ति आदि योजनाओं को भी समाप्त कर दिया गया है। 

चौहान ने कहा कि गांधी दूसरा झूठ बोल रहे हैं कि गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक करेंगे। चाहे कलावती का मामला हो या भट्टा-पारसौल  का, राफेल हो या किसान कर्जमाफी का, उनके रिकॉर्ड से साफ है कि इस वादे का भी किसानों के कर्ज माफी वाले वादे जैसा हश्र होने वाला है। उन्होंने कहा कि वह पूरे देश में जा कर देश की जनता एवं किसानों को कांग्रेस के कर्ज़माफी के वादे का सच बताएंगे। 

यह पूछे जाने पर कि क्या भाजपा कांग्रेस के न्यूनतम आय गारंटी के वादे से डरी हुई है, चौहान ने कहा कि हम डरे नहीं, बल्कि आत्मविश्वास से भरे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा का संकल्प पत्र आएगा तो उसमें किसानों की आय दोगुना करने को लेकर आगे का कार्यक्रम लाया जाएगा।

कांग्रेस द्बारा भाजपा पर मध्यप्रदेश में उसकी सरकार गिराने की साजिश रचने के आरोपों को खारिज करते हुए चौहान ने कहा कि अगर भाजपा को यही करना था तो वह सरकार बनने ही नहीं देती। उन्होंने कहा कि कमलनाथ की सरकार तमाम अंदरूनी अंतर्विरोधों से घिरी है और वह खुद ही अपनी गति को प्राप्त करेगी। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.