मोदी ने पेश किया नई सरकार बनाने दावा, कोविंद ने दिया सरकार बनाने का न्योता

Samachar Jagat | Sunday, 26 May 2019 08:53:43 AM
Modi made claim to form new government Kovind invited to form government

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के नेता नरेंद्र मोदी ने शनिवार रात को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भेंट कर नई सरकार बनाने का दावा पेश किया, जिसके बाद राष्ट्रपति ने उन्हें नई सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया। इससे पहले राजग के घटक दलों के नेताओं ने मोदी को गठबंधन का नेता चुने जाने और अपने समर्थन का पत्र राष्ट्रपति को सौंपा। इससे पूर्व संसद के केंद्रीय कक्ष में राजग संसदीय दल की बैठक में मोदी को पुन: नेता चुना गया। इसके कुछ ही देर बाद मोदी राष्ट्रपति भवन गए और सरकार बनाने का दावा पेश किया, इस पर राष्ट्रपति ने उन्हें नई सरकार बनाने का न्योता दिया। 

मोदी के शपथग्रहण में विश्व नेताओं को निमंत्रण पर अभी कोई निर्णय नहीं

Samachar Jagat

राजग के प्रतिनिधिमंडल में भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल, जनता दल यू के प्रमुख नीतीश कुमार, लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष राम विलास पासवान, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, अन्नाद्रमुक नेता के. पलानीसामी, नेशनल पीपुल्स पार्टी के नेता कोनार्ड संगमा तथा नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोगेसिव पार्टी के नेता नेफियू रियो, भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज तथा नितिन गडकरी शामिल थे। 

मोदी ने सत्रहवीं लोकसभा के चुनाव सम्पन्न होने और परिणाम आने के बाद राष्ट्रपति से मिलकर उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया था। राष्ट्रपति ने उनसे नई सरकार के गठन तक पद पर बने रहने का अनुरोध किया था। इस बीच, मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा तथा दोनों चुनाव आयुक्त ने कोविंद से मिलकर 17वीं लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों की सूची सौंपी थी।

राजग संसदीय दल की बैठक में मोदी को पहले भारतीय जनता पार्टी संसदीय दल का नेता, उसके बाद उन्हें राजग संसदीय दल का नेता चुना गया। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मोदी को पार्टी संसदीय दल का नेता चुनने का प्रस्ताव पेश किया। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी ने इसका अनुमोदन किया और उसके बाद पार्टी के सभी नवनिर्वाचित सांसदों ने हाथ खड़े कर और मेजें थपथपाकर प्रस्ताव का समर्थन किया। 

राहुल गांधी ही कांग्रेस को सही दिशा दे सकते हैं: अविनाश पांडे

Samachar Jagat

इसके बाद शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल ने मोदी को राजग संसदीय दल का नेता चुनने का प्रस्ताव पेश किया। जनता दल यू के प्रमुख एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, लोक जनशक्ति पार्टी प्रमुख रामविलास पासवान, अन्नाद्रमुक के नेता एवं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई के पलानीसामी, नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी के प्रमुख एवं नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो तथा नेशनल पीपुल्स पार्टी के प्रमुख एवं मेघालय के मुख्यमंत्री कोनार्ड संगमा ने प्रस्ताव का अनुमोदन किया। 

इसके बाद राजग के नवनिर्वाचित सांसदों ने दोनों हाथ उठाकर तथा मेजें थपथपाकर इसका समर्थन किया। अपना दल, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी तथा राजग के अन्य घटक दलों की ओर से भी मोदी को नेता चुनने के समर्थन में पत्र भेजे गए थे। बैठक में भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी तथा सुषमा स्वराज भी मौजूद थी। इसके अलावा भाजपा तथा राजग के अन्य घटक दलों के शासन वाले राज्यों के मुख्यमंत्री एवं उप मुख्यमंत्री तथा कुछ अन्य नेता भी उपस्थित थे। -एजेंसी 

2019 का चुनाव दो विचारधाराओं की लड़ाई था: आरएसएस



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.