एमएसपी वृद्धि कर वादा निभाया: मोदी, कांग्रेस ने कहा-चुनावी लॉलीपॉप

Samachar Jagat | Thursday, 05 Jul 2018 08:31:53 AM
MSP increased the promise: Modi, Congress-elect Lollipop

नई दिल्ली। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले किसानों को लुभाते हुए केंद्र ने बुधवार को धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 200 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ा दिया। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कदम को ऐतिहासिक बताया और दावा किया कि भाजपा नीत सरकार ने अपने चुनावी वादे को पूरा किया है। मोदी ने कहा कि उन्हें खुशी है कि किसानों को उनकी उत्पादन लागत का 1.5 गुणा कीमत उपलब्ध कराने के आश्वासन को पूरा किया गया है जबकि कांग्रेस ने उनके दावे को खारिज करते हुए इसे एक और ’’जुमला’’ और ’’चुनावी लॉलीपॉप’’ करार दिया।

एमएसपी बढ़ाने का राजकोषीय घाटे पर असर नहीं: जेटली

माकपा से संबद्ध किसान संगठन अखिल भारतीय किसान सभा ने एमएसपी वृद्धि को ’’ ऐतिहासिक विश्वासघात ’’ करार दिया। मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) की बैठक में धान , कपास और दालें समेत 14 खरीफ (ग्रीष्म ऋतु) फसलों के एमएसपी को बढ़ाने का फैसला किया गया।

प्रधान मंत्री ने बाद में ट्वीट किया, ’’मुझे बहुत खुशी है कि हमारे किसान भाइयों और बहनों को सरकार द्वारा जो उत्पादन लागत का डेढ़ गुणा स्तर पर न्यूनतम समर्थन मूल्य देने का वायदा किया गया था उसे पूरा किया गया है। एमएसपी में ऐतिहासिक वृद्धि हुई है। सभी किसानों को बधाई।’’ बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने इस फैसले को ’’ ऐतिहासिक ’’ बताया और कहा कि इस कदम से कृषि समुदाय को व्यापक फायदा होगा।

तेलंगाना में पटाखा फैक्ट्री में आग लगने से आठ की मौत, पांच घायल

उन्होंने उत्तर प्रदेश के मिर्ज़ापुर में संवाददाताओं से कहा, ’’मैं प्रधान मंत्री और उनके कैबिनेट सहयोगियों का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं किसानों के हित में यह एक बड़ा निर्णय है। इससे किसानों द्बारा सामना की जाने वाली कई समस्याओं का समाधान होगा।’’ किसानों के साथ धोखा करने का सरकार पर आरोप लगाते हुए कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सरकार ने कृषि फसलों और मूल्य आयोग (सीएसीपी) द्बारा सिफारिश की गई किसी भी फसल की लागत सहित 50 फीसदी लाभ को नही दिया है।

उन्होंने कहा, ’’घोषित किए गए एमएसपी उस वादे को पूराा नहीं करता जिसमें लागत के अलावा 50 प्रतिशत लाभ देने का वायदा किया गया था। यह किसानों के साथ विश्वासघात नहीं तो और यह क्या है?’’ उन्होंने कहा कि आज जो एमएसपी घोषणा की गई है उसे अगले साल किसानों को दिया जायेगा जब सरकार सत्ता से बाहर होगी और कोई और सरकार इसका भुगतान करेगी।

केन्द्र सरकार ने प्रवासियों और स्वदेश लौटने वाले लोगों को राहत प्रदान की

भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि एमएसपी में बढ़ोतरी मोदी के ’’ गरीबों के लिए अधिकतम समर्थन ’’ की मंशा को रेखांकित करती है और इससे देश और यहां के किसान समृद्ध होंगे। उन्होंने कहा कि कि यह एक ऐतिहासिक कदम है जिसका ध्येय वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करना है। इससे पूर्व दिन में , सरकार ने वर्ष 2018-19 के लिए धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 200 रुपए प्रति क्विंटल की रिकॉर्ड वृद्धि करने की घोषणा की थी। इस कदम के कारण राजकोष पर 15,000 करोड़ रुपए का बोझ आयेगा।

 

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.