नायडू ने शरद मामले पर उनके फैसले की आलोचना पर जताया अफसोस

Samachar Jagat | Wednesday, 06 Dec 2017 03:21:59 PM
Naidu on Sharad case criticism of their decision Express regret

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेेंकैया नायडू ने जनता दल यू के बागी नेताओं शरद यादव और अली अनवर की राज्यसभा की सदस्यता समाप्त किये जाने के उनके फैसले की आलोचनाओं पर अफसोस जताया। 

प्रगतिशील लोकतंत्र के लिए विश्वसनीय सूचनाओं तक जनता की पहुंच जरूरी: नायडू

नायडू ने केंद्रीय सूचना आयोग के 12वें वार्षिक सम्मेलन का यहां उद्घाटन करते हुए यादव और अनवर का नाम लिये बगैर कहा कि उन्होंने एक मामले का तीन माह के अंदर निपटारा कर दिया। उपराष्ट्रपति ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि इस मामले का जल्द निपटारा करने का स्वागत किया जाएगा लेकिन कुछ लोग इसकी भी आलोचना कर रहे हैं।

वाम दलों, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने यादव को राज्यसभा की सदस्यता क अयोग्य ठहराये जाने को अनुचित करार दिया है। 

लेह में मौसम की सबसे सर्द रात रिकॉर्ड की गई

उल्लेखनीय है कि नायडू ने जद(यू) के महासचिव और राज्यसभा में पार्टी के नेता आर सी पी सिंह की याचिका पर फैसला सुनाते हुए यादव और अनवर को राज्यसभा की सदस्यता के अयोग्य ठहराया है। उन्होंने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद दलबदल कानून के तहत यह फैसला दिया है।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.