नौवहन उपग्रह आईआरएनएसएस-1आई अपनी कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित

Samachar Jagat | Thursday, 12 Apr 2018 10:53:08 AM
Navigation Satellite IRNSS-1I successfully installed in its class

श्रीहरिकोटा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ( इसरो ) के नौवहन उपग्रह आईआरएनएसएस -1 आई का गुरुवार को यहां अंतरिक्ष केंद्र से पीएसएलवी- सी 41 यान से प्रक्षेपण किया गया। उपग्रह अंतरिक्ष में अपनी निर्धारित कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित हुआ। इसरो के अधिकारियों ने बताया कि आईआरएनएसएस-1 आई का सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से गुरुवार तडक़े 4: 04 बजे प्रक्षेपण किया गया।

मस्जिदों-मंदिरों पर लाउस्पीकर लगाने को लेकर न्यायालय गंभीर

यह सामान्य प्रक्षेपण रहा। पीएसएलवी ने यहां से उड़ान भरने के 19 मिनट बाद उपग्रह को कक्षा में स्थापित कर दिया। इसरो के चेयरमैन के. सिवन ने मिशन को सफल बताया और वैज्ञानिकों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि आईआरएनएसएस -1 आई निर्धारित कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित हुआ।

इस नौवहन उपग्रह के आईआरएनएसएस-1 ए का स्थान लेने की संभावना है जो उन 7 नौवहन उपग्रहों में से एक है जो तकनीकी खामी के बाद निष्प्रभावी हो गया था। ये सातों नौवहन उपग्रहों के समूह का हिस्सा हैं। उपग्रह बदलने के लिए यह प्रक्षेपण इसरो का दूसरा प्रयास था।

मध्यप्रदेश में पत्रकारों की कैशलेस उपचार सीमा होगी चार लाख रूपये: चौहान

इससे पहले गत वर्ष अगस्त में आईआरएनएसएस -1 एच को अंतरिक्ष में भेजने का मिशन विफल हो गया था क्योंकि उपग्रह को कवर करने वाली हीट शील्ड अलग नहीं हो पाई थी। जीसैट -6 ए को अंतरिक्ष में भेजने के 2 सप्ताह बाद इसरो ने नौवहन उपग्रह का प्रक्षेपण किया है। हालांकि रॉकेट ने जीसैट -6 ए को कक्षा में स्थापित कर दिया था लेकिन 2 दिन के भीतर ही इसरो का उपग्रह से संपर्क टूट गया था। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.