आपदा के समय सेवा भाव से काम करने की जरूरत : नीतीश

Samachar Jagat | Tuesday, 06 Nov 2018 06:59:16 PM
Nitish Kumar said needs to work with service price at times of disaster

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य को बाढ़ और सूखे से प्रभावित बताया और कहा कि प्राकृतिक आपदा के समय लोगों की सेवा करने का भाव रखने की जरूरत है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को यहां बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का 11वें स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन करने के बाद कहा कि बिहार आपदा प्रभावित राज्य है।

येदियुरप्पा का आरोप, उपचुनाव जीतने के लिए कांग्रेस- जनता दल ने धन, बाहुबल का किया इस्तेमाल

बाढ़, सुखाड़ जैसी आपदा तो हमेशा आती रहती है और यहां भूकम्प की आशंका भी बनी रहती है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आपदा के समय लोगों की सेवा करने का भाव रखने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के साथ छेड़छाड़ से बचना होगा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि धरती लोगों की जरूरत को पूरा करने में सक्षम है लेकिन लालच को नहीं।

नोटबंदी के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मांगे माफी: कांग्रेस

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि हमलोगों का दायित्व है कि किसी भी तरह की आपदा की स्थिति से निपटने के लिए राशि में कुछ कमी न हो। राज्य के खजाने पर पहला हक आपदा पीडि़तों का है। हमलोग कभी इसमें कमी नहीं करते हैं, तत्काल मदद की जाती है। कुदरत पर भरोसा है कि पैसे का इंतजाम किसी न किसी तरह से खजाने में होता रहेगा।

आर्थिक अव्यवस्था को ठीक करने मोदी को आरबीआई से चाहिए 3.6 लाख करोड़ रुपए: राहुल

पिछले ही वर्ष आई कोसी त्रासदी में काफी क्षति हुई, जिसकी मदद करने के लिए राहत शिविरों में आवास, भोजन एवं बर्तन की भी व्यवस्था की गई। 38 लाख परिवारों के लिए ग्रैच्यूट््स रिलिफ (जीआर) के तहत 2100 करोड़ रुपए राज्य सरकार ने अपने खजाने से खर्च किए। इसमें प्रत्येक परिवार को उनके खाते में 6 हजार रुपए भेजा गया।
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.