विपक्ष पूरी तरह बिखरा हुआ है और चुनाव से पहले या चुनाव के दौरान भी वह साथ नहीं आ सका: जेटली

Samachar Jagat | Friday, 17 May 2019 12:45:52 PM
Opposition is completely scattered and could not come along with it before or after the elections Jaitley

दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्वीकार्यता के पीछे सबसे बड़ा कारण विपक्ष में ठोस विकल्प की कमी है और विपक्ष जो अस्पष्ट विकल्प पेश कर रहा है वह भी काफी डरावना है। जेटली ने एक ब्लॉग में लिखा इसे आम तौर पर 'टीना’ (देअर इज नो ऑल्टरनेटिव) कारक कहा जाता है। यदि विपक्ष कोई अस्पष्ट विकल्प प्रस्तुत कर रहा है तो वह काफी डरावना है। उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ मोदी की स्वीकार्यता का कारण उनकी निर्णय लेने की क्षमता, ईमानदारी और प्रदर्शन, गरीबों को उनके कार्यकाल में सुनिश्चित की गई संसाधनों की उपलब्धता और सुरक्षा पर उनका सिद्धांत परिवर्तनकारी साबित हुआ है। 

Rawat Public School

साध्वी प्रज्ञा ने गोडसे को देशभक्त बताने के लिए मांगी माफी, कहा मैं पार्टी लाइन पर चलूंगी

वित्त मंत्री ने विपक्ष को नेतृत्व विहीन बताते हुए कहा कि वहां नेतृत्व को लेकर कोई सहमति नहीं है। महत्त्वपूर्ण राज्यों में वे गठबंधन नहीं बना सके। यहां तक कि वे सामान्य बैठक भी नहीं कर सके क्योंकि वे जानते थे कि उनमें से बहुत इसके लिए तैयार नहीं होंगे। उन्होंने कहा, उन्हें एक सूत्र में बांधने वाली चीज नकारात्मकता है - एक व्यक्ति को हटाने की चाह है। उनमें नेता या कार्यक्रम को लेकर कोई सहमति नहीं है। विपक्ष पूरी तरह बिखरा हुआ है और चुनाव से पहले या चुनाव के दौरान भी वह साथ नहीं आ सका। उनके इस आश्वासन पर कौन यकीन करेगा कि चुनाव के बाद वे साथ खड़े होंगे।

लोकसभा टिकट नहीं दिए जाने के पत्नी के दावे पर सिद्धू ने कहा, मेरी पत्नी कभी झूठ नहीं बोलेगी

जेटली ने कहा कि विपक्ष को यह पता है कि 23 मई को मतगणना के दिन उसकी हार होने वाली है और इसलिए वह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन और चुनाव आयोग के खिलाफ हमलावर हैं। उन्होंने कहा, मतदाताओं के समक्ष वे बेहद डरावना दृ­श्य प्रस्तुत कर रहे हैं और वे आत्मघाती विकल्प से भी खराब हैं। यह डरावनी परिस्थिति तथा विपक्ष के वायदे ही उसकी समाप्ति के कारण होंगे।-एजेंसी

केजरीवाल ने चुनाव आयोग पर ‘पक्षपात’ करने का आरोप लगाया


 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.