उच्चतम न्यायालय में राजनीतिक दलों को आरटीआई के तहत लाने की याचिका दायर

Samachar Jagat | Sunday, 07 Apr 2019 10:38:50 AM
Petitions filed in Supreme Court to bring political parties under RTI

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय में सभी पंजीकृत और मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को सूचना के अधिकार कानून के तहत सार्वजनिक प्राधिकरण घोषित करने के निर्देश देने की मांग वाली एक याचिका दायर की गई है। भाजपा नेता और वकील अश्विनी उपाध्याय द्बारा याचिका में कहा गया है, जन प्रतिनिधि कानून की धारा 29 सी के मुताबिक राजनीतिक दलों को मिलने वाले दान की जानकारी भारत के निर्वाचन आयोग को दी जानी चाहिए।

मलबे के खतरे को टालने के लिए भारत ने उपग्रह रोधी परीक्षण के लिए निचली कक्षा चुनी : डीआरडीओ

यह दायित्व उनकी सार्वजनिक प्रकृति की ओर इंगित करता है। इसमें कहा गया है, अत: यह अदालत घोषित कर सकती है कि राजनीतिक दल आरटीआई कानून, 2005 की धारा 2(एच) के तहत सार्वजनिक प्राधिकरण है। याचिका में कहा गया है कि राजनीतिक दलों को चुनाव चिह्न आवंटित करने और आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन में उन्हें निलंबित करने या वापस लेने की भारत के निर्वाचन आयोग की शक्ति उनकी सार्वजनिक प्रकृति की ओर इंगित करता है।

लोकसभा चुनाव 2019: भाजपा ने जारी की अपने 24 उम्मीदवारों की सूची, राजस्थान के इन चार सीटों के उम्मीदवार घोषित

याचिका में ये निर्देश देने की भी मांग की गई है कि सभी पंजीकृत और मान्यता प्राप्त राजनीतिक पार्टियां चार सप्ताह के भीतर जन सूचना अधिकारी, सक्षम प्राधिकरण नियुक्त करें और आरटीआई कानून, 2005 के तहत सूचनाओं का खुलासा करें। 

ओडिशा में प्रधानमंत्री मोदी बोले, 2019 का यह चुनाव देश के भविष्य के लिए बहुत अहम

राहुल ने मोदी के लिए अपना प्रेम दोहराया, कहा कि पीएम उनके प्रति गुस्सा रखते हैं



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.