पीएम मोदी ने बताया क्या अंतर है 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में

Samachar Jagat | Tuesday, 14 May 2019 09:51:38 AM
PM Modi told what the difference is between 2014 and 2019 Lok Sabha elections

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इंदौर। पिछले लोकसभा चुनावों और मौजूदा लोकसभा चुनावों के दौरान देश के मतदाताओं के मूड की तुलना करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया कि इस बार सत्तारूढ़ राजग गठबंधन के समर्थन में लहर चल रही है। उन्होंने कहा, वर्ष 2014 का चुनाव एंटी इन्कम्बन्सी (सत्ताविरोधी लहर) का था, जबकि 2019 का मौजूदा चुनाव प्रो-इन्कम्बन्सी (सत्तासमर्थक लहर) का है। वर्ष 2014 के चुनाव में भ्रष्टाचार, वंशवाद और नीतिगत लकवे के खिलाफ जनता का आक्रोश चरम पर था, जबकि 2019 के चुनाव में जनता का विश्वास चरम पर है। 

कमल हासन ने दिया नए विवाद को जन्म, कहा भारत का पहला आतंकवादी था हिंदू

Samachar Jagat

मोदी ने कहा, 2014 के चुनाव में देश ने मेरे और मेरे काम के बारे में बस सुना था। 2019 के इस चुनाव में देश मेरे काम को जानने लगा है। लिहाजा इस बार भारतीय जनता पार्टी नहीं, बल्कि खुद भारतीय जनता लड़ रही है। प्रधानमंत्री ने कहा, मेरी निष्ठा, नीयत और नीति का आकलन कम-ज्यादा हो सकता है। लेकिन मेरे इरादों में कोई भी खोट नहीं निकाल सकता। मोदी ने अपने राजनीतिक विरोधियों पर आक्रमण करते हुए कहा, हमने अक्सर देश में सत्तारूढ़ दल को हटाने के लिए जनता को खड़े होते देखा है। अक्सर यह भी बोला जाता है कि देश का मतदाता शांत होता है।

कुछ लोगों को परेशानी है कि मतदान के बीच मोदी ने आतंकवादियों को क्यों मारा: नरेंद्र मोदी

Samachar Jagat

लेकिन इस बार मतदाता मुखर है और वह कश्मीर से कन्याकुमारी तक (एनडीए) सरकार को दोबारा चुनने के लिए खड़ा हो गया है। इस कारण कई नेताओं की नींद हराम हो गई है और उन्होंने बयानबाजी के मामले में अपना संतुलन खो दिया है।
 वर्ष 1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रोदा के विवादास्पद बयान ’’हुआ तो हुआ’’ को लेकर कांग्रेस पर हमले जारी रखते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह कथन कांग्रेस का अहंकार दिखाता है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नजरिए पर सवाल खड़ा करते हुए कहा, वंशवाद की सीढ़ी पर चढ़कर उन्हें (राहुल) पार्टी की कमान तो मिल सकती है, लेकिन दूरदृष्टि नहीं मिल सकती। -एजेंसी 

भ्रष्टाचारी जेल जाने के डर से एकजुट होकर चुनाव मैदान में उतरे: योगी आदित्यानाथ

loading...


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
loading...


Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.