नीति आयोग ने 16 अरब डॉलर के वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे का स्वागत किया

Samachar Jagat | Friday, 11 May 2018 09:17:19 AM
Policy Commission welcomes Walmart-Flipkart deal

नई दिल्ली। नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि 16 अरब अमेरिकी डॉलर (1.05 लाख करोड़ रुपये ) का वॉलमार्ट - फ्लिपकार्ट सौदे का भारत में विदेशी निवेश पर अच्छा असर पड़ेगा। उन्होंने यह भी कहा कि यह सौदा भारत के विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई ) मानदंडों के अनुरूप है। 

फ्लिपकार्ट के सीईओ ने अपने विक्रेताओं को किया आश्वस्त

वॉलमार्ट कार्पोरेशन ने फ्लिपकार्ट में 77 प्रतिशत हिस्सेदारी के अधिग्रहण की घोषणा की जो ई-कामर्स जगत का सबसे बड़ा सौदा है। इससे वैश्विक स्तर पर खुदरा स्टोर चालाने वाली वालमार्ट कंपनी को भारत के तेजी से उभर रहे आनलाईन खुदरा बाजार में पहुंच प्रदान करेगा, जो एक दशक के भीतर 200 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है। भारतीय बाजार में उसका मुकाबला एक अन्य प्रमुख कंपनी अमेजन से होगा।

कुमार ने कहा, इसका बहुत सकारात्मक प्रभाव होगा। यह सौदा देश के एफडीआई मानदंड के अनुरूप है। उन्होंने कहा कि वॉलमार्ट प्रमुख वैश्विक कंपनी हैं और जो भारत में छोटे व्यवसायों को सस्ती लागत पर माल तैयार करने में मदद करेंगी।  उन्होंने कहा कि यह सौदा देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश ( एफडीआई ) पर भी सकारात्मक प्रभाव डालेगा। 

कर्नाटक चुनाव के समय पेट्रोल-डीजल की कीमतें नहीं बढ़ना संयोग: आईओसी

यह टिप्पणी इस मायने में महत्वपूर्ण है कि सौदे की घोषणा के तुरंत बाद आरएसएस - संबद्ध स्वदेशी जागरण मंच ने आरोप लगाया कि वॉलमार्ट भारतीय बाजार में पिछले दरवाजे से प्रवेश के लिए यहां के नियमों को चकमा दे रही है। मंच ने राष्ट्रीय हित की रक्षा के लिए प्रधानमंत्री से हस्तक्षेप की मांग की है। 
स्वदेशी जागरण मंच के सह संयोजक अश्विनी महाजन ने प्रधान मंत्री को लिखे एक पत्र में कहा, इससे छोटे - मझोले उद्यमों और छोटी दुकानों के मुश्किलें और बढ़ेगी तथा नौकरियों के अधिक अवसर पैदा करने की संभावनाएं खत्म होंगी। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.