वरिष्ठ जजों से करवाई जाए जस्टिस लोया की मौत की जांच:राहुल गांधी

Samachar Jagat | Friday, 12 Jan 2018 10:13:04 PM
Press conference supreme court senior judges rahul gandhi

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चार न्यायाधीशों द्वारा इस न्यायालय के कार्यकलाप को लेकर शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस करने को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने संवेदनशील मामला बताया है। उन्होंने कहा कि जजों ने जो सवाल उठाए हैं उनकी जांच होनी चाहिए।

नौसेना ने दी आईएनएस निर्भीक और आईएनएस निर्घात को विदाई

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जस्टिस लोया की मौत का मुद्दा उठाते इस मामले की जांच वरिष्ठ जजों से करवाने की बात भी कही है। उन्होंने कहा कि हमारी न्याय प्रणाली पर पूरा देश भरोसा करता है, इसीलिए आज हम इस पर बयान जारी कर रहे हैं। 

जज प्रेस कांफ्रेंस पर कांग्रेस और विधि विशेषज्ञों ने जताई चिंता

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि न्यायाधीशों की टिप्पणी बेहद परेशान करने वाली हैं। इससे लोकतंत्र पर दूरगामी प्रभाव पड़ेगा। 
इस विवाद पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के घर हुई बैठक में पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद, पी चिदंबरम, कपिल सिब्बल, अहमद पटेल, मोतीलाल बोरा, मनीष तिवारी, प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला शामिल थे।

यह संगठन करेगा इजराइली प्रधानमंत्री नेतन्याहू की यात्रा का विरोध

इससे पहले कांग्रेस ने अपने आधिकारिक पेज पर देश के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों द्वारा न्यायालय के कामकाज को लेकर पहली बार प्रेस कांफे्रंस करने पर चिंता जताई और कहा कि यह लोकतंत्र के लिए खतरनाक है। 

इससे पहले देश के शीर्ष चार जजों जस्टिस जस्ती चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ ने प्रेस कांफे्रस की। जस्टिस चेलमेश्वर ने बताया कि चार महीने पहले हम सभी चार जजों ने चीफ जस्टिस को एक पत्र लिखा था, जो कि प्रशासन के बारे में था, हमने कुछ मुद्दे उठाए थे, लेकिन कोई कदम नहीं उठाया गया।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.