राज ठाकरे परिवार के साथ ईडी कार्यालय पहुंचे

Samachar Jagat | Thursday, 22 Aug 2019 02:14:51 PM
Raj Thackeray reaches ED office with family

मुंबई। मनसे प्रमुख राज ठाकरे धन शोधन मामले की जांच के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेश होने के लिए अपने परिवार के सदस्यों के साथ गुरुवार को दक्षिण मुंबई में स्थित एजेंसी के कार्यालय पहुंचे।


loading...

मनसे नेता अपनी पत्नी शर्मिला, बेटे अमित और बहू मिताली के साथ सुबह करीब 11.30 बजे ईडी कार्यालय पहुंचे। राज के अकेले कार्यालय में प्रवेश करने के बाद, उनके परिवार के सदस्य पास के एक होटल में रुके।

ईडी ने राज ठाकरे को कोहिनूर सीटीएनएल को इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज (आईएल।एफएस) द्वारा दिए गए ऋण से संबंधित कथित अनियमितताओं से संबंधित एक मामले में तलब किया है।

ठकरे की पेशी को देखते हुए मुंबई पुलिस ने गुरुवार को दक्षिण मुंबई में ईडी कार्यालय के बाहर और दादर के कुछ इलाकों में आपराधिक दंड संहिता की धारा 144 (गैरकानूनी तरीके से एकत्र होने पर प्रतिबंध) लगा दी ।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह कदम कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए उठाया गया है। अधिकारी ने कहा, ‘‘राज ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से ईडी कार्यालय के बाहर एकत्र नहीं होने की अपील की है, लेकिन हम कोई भी जोखिम नहीं लेना चाहते हैं।’’

इस बीच, मनसे नेता संदीप देशपांडे को गुरुवार की सुबह पुलिस ने हिरासत में ले लिया। एमएनएस कार्यकर्ता संतोष धुरी और राजन मोरे को क्रमश: मुंबई और ठाणे से हिरासत में लिया गया। अधिकारी ने बताया, ‘‘हमने माता रमाबाई अंबेडकर मार्ग पुलिस थाना के अधिकार क्षेत्र में धारा 144 लागू की है जहाँ ईडी कार्यालय स्थित है।’’ 

उन्होंने कहा कि धारा 144 के तहत चार से अधिक व्यक्तियों को उस इलाके में एक जगह इकट्ठा होने पर प्रतिबंध होता है, जहाँ शांति भंग होने की आशंका रहती है। अधिकारी ने कहा कि मनसे प्रमुख के वहां पहुंचने से पहले ईडी कार्यालय के बाहर भीड़ जमा होने की आशंका को देखते हुए, एजेंसी कार्यालय के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

उन्होंने कहा कि मध्य मुंबई के दादर क्षेत्र और अन्य स्थानों पर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है, जो मनसे का गढ़ माना जाता है। अधिकारी ने बताया कि मुंबई पुलिस ने बुधवार को एहतियाती कदम के तौर पर सीआरपीसी की धारा 149 के तहत मनसे के पदाधिकारियों और कई पार्टी कार्यकर्ताओं को नोटिस दिए। धारा 149 संज्ञेय अपराधों की रोकथाम से संबंधित है।

ईडी कोहिनूर सीटीएनएल इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी में ईएल एंड एफएस द्वारा किए गए 450 करोड़ रुपये से अधिक के इक्विटी निवेश और ऋण में कथित अनियमितताओं की जांच कर रहा है। कंपनी मुंबई के दादर क्षेत्र में कोहिनूर स्क्वायर टॉवर बना रही है। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना के वरिष्ठ नेता मनोहर जोशी के बेटे उन्मेष जोशी को भी इस मामले में ईडी ने तलब किया है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.