रमन ने की चौथी बार मुख्यमंत्री बनाने के लिए मतदान की अपील

Samachar Jagat | Monday, 29 Oct 2018 05:44:14 PM
Raman appeal for voting for fourth time Chief Minister

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

कोण्डागांव। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने मतदाताओं से प्रत्य़ाशी की बजाय उन्हे चौथी बार मुख्यमंत्री बनाने के लिए कमल पर मतदान करने की अपील की है।


डॉ.सिंह ने जिले के केशकाल विधानसभा क्षेत्र के विश्रामपुरी में सोमवार को एक चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि बीजेपी प्रत्याशी हरिशंकर नेताम को नही उन्हे देखे,और चौथी बार उन्हे मुख्यमंत्री बनाने के लिए कमल पर वोट दे।

उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में चौमुखी विकास हुआ लेकिन गत चुनाव में केशकाल क्षेत्र का समुचित विकास नही हो सका क्योंकि यहां भाजपा का विधायक नही था। उऩ्होने कहा कि कांग्रेस ने अविभाजित मध्यप्रदेश के समय कई दशक तक एवं छत्तीसगढ गठन के बाद भी 3 साल तक शासन किया।

लेकिन गरीबी खत्म करने के नारे जरूर लगाए लेकिन इनके कल्याण के लिए कुछ नही किया।बीजेपी की सरकार बनने के बाद ही गरीबों के लिए योजनाएं बनाई गई और क्रियान्वित हुई। डॉ.सिंह ने सभा में मौजूद लोगो से पूछा कि..कांग्रेस ने क्या एक रुपए चावल देने की योजना शुरू की,निशुल्क नमक दिया,5 रुपए किलो चना दिया, भीड़ से नहीं की आवाज आई तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस को फिर वोट क्यों देना।

उन्होंने समर्थन मूल्य पर एक नवम्बर से शुरू हो रही धान खरीद का जिक्र करते हुए कहा कि जो कांग्रेसी आज किसानों के हितैषी होने का दिखावा कर रहे है उन्होने सत्ता में रहते 5 क्विंटल से ज्यादा धान कभी नही खरीदा। उन्होंने लोगों को विश्वास दिलाया कि..जब तक डॉ.रमन मुख्यमंत्री है।

बीजेपी की सरकार है तब तक एक रुपए चावल देने की योजना को कोई बन्द नही कर सकता..।कांग्रेसी भी इसे बन्द नही कर सकते। उन्होंने यह भी दोहराया कि धान का बोनस इस बार धान के खरीद मूल्य के साथ ही किसानों को मिल जाएगा। 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.