महाराष्ट्र में घटा बाढ़ का पानी, एक अहम राजमार्ग खोला गया

Samachar Jagat | Monday, 12 Aug 2019 01:36:25 PM
Reduced floodwater in Maharashtra, an important highway opened

मुम्बई। महाराष्ट्र के कोल्हापुर में बाढ़ की वजह से पिछले छह दिन से बंद मुम्बई-बेंगलुरु राष्ट्रीय राजमार्ग को पानी घटने के बाद सोमवार को खोल दिया गया। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी।

छह लेन के राष्ट्रीय राजमार्ग 4 पर शिरोली पुल से एक लेन के माध्यम से कोल्हापुर और बेलगाम के बीच यातायात को चालू कर दिया गया। पिछले हफ्ते बाढ़ में इस व्यस्त राजमार्ग के डूब जाने के बाद हजारों वाहन फंस गए थे। 

कोल्हापुर के पुलिस अधीक्षक अभिनव देशमुख ने कहा, ‘‘पानी का स्तर घट गया है और शिरोली पुल का अब वाहनों की आवाजाही के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। हमने एहतियात के तौर पर इस राजमार्ग के एक तरफ एक एक ही लेन को खोलने का फैसला किया है।’’

कोल्हापुर जिला कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि वैसे तो अब भी पुल पर थोड़ा-बहुत पानी बह रहा है, लेकिन इसके घटने की उम्मीद है। अधिकारी ने कहा कि कोल्हापुर से बहने वाली कृष्णा नदी की बड़ी सहायक नदी पंचगंगा में जलस्तर रातभर में एक फुट घटा है लेकिन अब भी जलस्तर खतरे के स्तर 49 फुट पर है।

उन्होंने कहा, ‘‘ पंचगंगा के तटबंधीय क्षेत्रों में बारिश रुक गयी है लेकिन बांधों से नदी में अब भी पानी बह रहा है। जलस्तर जब घट जाएगा तो कोल्हापुर में सडक़ों को वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा।’’

अधिकारियों के अनुसार सेना, वायुसेना, नौसेना, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, तटरक्षक बल, राज्य आपदा मोचन बल, पुलिस और स्थानीय अधिकारियों की करीब 105 टीम पश्चिमी महाराष्ट्र क्षेत्र में बचाव कार्य में जुटी हैं। उनके मुताबिक 54 बचाव टीम कोल्हापुर में सक्रिय हैं जबकि 51 सांगली में कार्यरत हैं।

राज्य के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को बताया था कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से अब तक करीब 4.48 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। इनमें 4.04 लाख लोग कोल्हापुर और सांगली के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से निकाले गए हैं। उन्हें 372 अस्थायी शिविरों और आश्रयस्थलों पर पहुंचाया गया है।

सांगली और कोल्हापुर के मुसलमानों ने सोमवार को ईद उल अजहा बिल्कुल सादगी से मनाने और बाढ़ प्रभावितों को दान करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को कहा था कि हर बाढ़ प्रभावित परिवार को पांच-पांच हजार रुपये नकद दिए जाएंगे और बाकी वित्तीय सहायता उनके बैंक खातों में पहुंचायी जाएगी। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.