शरद यादव का छलका दिल्ली का दर्द, कहा-मुझे बोलने की सज़ा मिली 

Samachar Jagat | Tuesday, 05 Dec 2017 01:24:04 PM
Sharad Yadav said, I got the sentence of speaking

नई दिल्ली। वरिष्ठ समाजवादी नेता शरद यादव ने राज्यसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराए जाने के बाद कहा है कि उन्हें लोकतंत्र की खातिर बोलने की सजा मिली है। यादव ने राज्यसभा के कल के फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया में  मंगलवार को कहा कि उन्हें बिहार में बने महगठबंधन को तोडऩे संबंधी अपनी पार्टी के फैसले की खिलाफत करने की वजह से संसद की सदस्यता गंवानी पड़ी है।

राहुल गांधी ने किया फिर जीएसटी को लेकर व्यंग्य 

उन्होंने ट्वीट किया है, मुझे राज्यसभा की सदस्यता से अयोग्य घोषित किया गया है। बिहार में राजग को हराने के लिए बने महागठबंधन को 18 माह में ही सत्ता में बने रहने के मकसद से राजग में शामिल होने के लिए तोड़ दिया गया। अगर इस अलोकतांत्रिक तरीके के खिलाफ बोलना मेरी भूल है तो लोकतंत्र को बचाने के लिए मेरी ये लड़ाई जारी रहेगी।

राज्यसभा के सभापति ने जदयू से राज्यसभा सदस्य यादव और अली अनवर को सदन की सदस्यता से अयोग्य घोषित कर दिया था। राज्यसभा में जदयू संसदीय दल के नेता आर. सी. पी. सिंह ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण यादव और अनवर की सदस्यता रद्द करने की सभापति से अनुशंसा की थी।

मध्यप्रदेश में ‘ओखी’ का असर, हवाओं और बूंदाबांदी ने बढ़ाई सर्दी

सभापति ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कल देर शाम यह फैसला दिया है। शरद गुट के नेता जावेद रजा ने कहा कि उन्हें कल देर रात इस फैसले की प्रति मिली है। इसके कानूनी पहलुओं पर आज विशेषज्ञों से विचार विमर्श कर आगे की रणनीति तय की जाएगी।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.