तो इसलिए मनाया जाता हैं राष्ट्रीय बालिका दिवस, जानिए

Samachar Jagat | Thursday, 24 Jan 2019 01:09:53 PM
So it is celebrated National Girl's Day, know

इंटरनेट डेस्क। बच्चियां घर की रानी हैं, बेटियां के बिना पूरा संसार अधूरा अधूरा सा लगता हैं। इसलिए बेटियां घर की लाडली होती हैं। ​कन्या भ्रूण हत्या जैसे अपराधों पर रोक लगाएं। तब ही घर, परिवार, देश तरक्की करेगा।

आज पूरा देश 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया रहा है। लड़कियों के गिरते लिंग अनुपात के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए और उनके साथ समाज में होती असमानताओं को दूर करने के मकसद से शुरू किया गया। यह दिवस साल 2008 से हर वर्ष मनाया जाता है।

हर साल इसकी अलग-अलग थीम भी रखी जाती है। इस वर्ष इसकी थीम है उज्ज्वल कल के लिए लड़कियों का सशक्तिकरण। आपको बता दें कि 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस के तौर पर मनाने की घोषण महिला विकास मंत्रालय की तरफ से की गई थी।

महिला विकास मंत्रालय ने इस दिन को मनाने की घोषणा वर्ष 2008 में की थी। आज भले ही हम कितने ही मॉडर्न क्यों न हो गए हों। लड़कियों के विकास और उनके सशक्तिकरण के कितने ही दावे क्यों न करले, लेकिन इस सच्चाई को नहीं झुठला सकते कि महिलाओं के साथ आज भी गलत हो रहा है। आज भी ऐसे कई मामले सामने आते हैं जिसमें दहेज के लालच में बहुओं को मार दिया जाता है। बेटी का नाम सुनकर उसको गर्भ में ही मार दिया जाता है।

समाज में बालिकाओं के जीवन और स्थिति को बेहतर बनाने के लिए इस दिन को मनाया जाता है। हालांकि देश में लड़कियों के अधिकारों के प्रति लोगों को जागरुक करने, एक समान शिक्षा और मौलिक आजादी का अधिकार दिलाने की बात अक्सर नेता अपने भाषणों में करते हैं, लेकिन हकीकत तो ये है कि आज भी अधिकांश महिलाएं घरेलु हिंसा, बाल-विवाह, दहेज प्रताड़ना जैसी कई यातनाओं की शिकार बन रही हैं। राष्ट्रीय बालिका दिवस के जरिए देश की तमाम बालिकाओं और महिलाओं को उनके अधिकारों और उनके लिए बने कानूनों से अवगत कराने की कोशिश की जाती है।

लड़कियों के साथ हो रही बलात्कार की घटनाएं भी किसी से छिपी नहीं है। ऐसे में हर किसी को महिलाओं के साथ होते आ रहे अत्याचार को रोकने की कोशिश करनी चाहिए। राष्ट्रीय बालिका दिवस के जरिए महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाता है उनके लिए बनाए गए कानूनों के बारे में भी उनको बताया जाता है। इस दिन देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को नारी शक्ति के रूप में भी याद किया जाता है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.