कुछ राजनीतिक दल धर्म की राजनीति करते हैं : ममता

Samachar Jagat | Sunday, 14 Apr 2019 07:58:20 AM
Some political parties do politics of religion: Mamta

सिलीगुरी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि कुछ राजनीतिक दल राजनीतिक साधनों के लिए नफरत के धर्म का इस्तेमाल कर रहे हैं, वे फासीवादी हैं। चुनावी रैली को संबोधित करते हुए ममता ने कहा कि फासीवादी ताकतों को राजनीति के लिए धर्म का इस्तेमाल बंद करना चाहिए। धर्म व्यक्तिगत है। उन्होंने कहा बड़े फासीवादी नेता अपने मुताबिक देश चला रहे हैं।

तृणमूल प्रमुख ने कहा कि आपको क्या खाना है यह आपकी पसंद है। उन्होंने एयर इंडिया में मांसाहारी खाने पर प्रतिबंध क्यों लगाया। उन्होंने कहा कि कुछ भाजपा के नेता कहते हैं कि ममता बनर्जी ने बंगाल में दुर्गा पुजा पर रोक दी, वे कहते हैं कि सरस्वती पुजा रोक दी। उन्होंने प्रशन किया कि क्या वे लोग दुर्गा पुजा और सरस्वती पुजा के मंत्र भी बोल सकते हैं। मुख्यमंत्री ममता ने कहा कि सभी समुदाय का अपना अलग त्योहार है।

यह बंगाल और देश की संस्कृति है। उन्होंने कहा कि भाजपा हिसा और घृणा फैलाती है। वे लोग तो सेना के नाम पर भी वोट मांगते हैं। यह निंदनीय है। उन्होंने कहा कि धर्म हिंसा और घृणा के लिए नहीं बल्कि मानवता के लिए है। ममता ने कहा कि कुछ लोगों ने नई प्रवृत्ति शुरु की है, नफरत और विभाजन का धर्म जो कि बंगाल की संस्कृति में नहीं है।

उन्होंने कहा कि हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं। मैं हर वर्ष पहले वैशाख में मां काली की पुजा करती हूं। मैं यह परंपरा दशकों से निभा रही हूं। सुश्री ममता ने कहा, आचार संहिता लगी हुई है, मैं इसे तोड़ना नहीं चाहती लेकिन राम नवमी के नाम पर कुछ लोग सड़कों पर हथियार लेकर चलते हैं और वोट मांगते हैं। तृणमूल प्रमुख ने युवा वोटरों से भाजपा के देश तोड़ने वाली राजनीति की अलावा देश के विकास के लिए वोट करने की अपील की। उन्होंने कहा कि हम लोगोें को नए वोटरों से बहुत उम्मीदे हैं। वे देश की दिशा तय करेंगे। यह लोग भारत के भविष्य की नींव रखेंगे।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.