उच्चतम न्यायालय ने राजगोपाल को राहत देने से किया इन्कार

Samachar Jagat | Wednesday, 10 Jul 2019 10:58:27 AM
Supreme Court denies Rajgopal relief

नयी दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने सरवना भवन रेस्टोरेंट समूह के मालिक पी राजगोपाल को 2001 की एक हत्या मामले में चिकित्सा आधार पर आत्मसमर्पण की समयावधि बढ़ाने को लेकर कोई राहत देने से मंगलवार को इनकार कर दिया।

Rawat Public School

गौरतलब है कि 2001 हत्या मामले में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे राजगोपाल को आत्मसमर्पण के लिए सात जुलाई तक का समय दिया गया था। मद्रास उच्च न्यायालय ने 2009 में मशहूर सरवना भवन ग्रुप के संस्थापक को 2001 में कर्मचारी संतकुमार की हत्या करने के मामले में दोषी ठहराने के बाद आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। राजगोपाल एक ज्योतिष की सलाह पर संतकुमार की पत्नी के साथ विवाह करना चाहता था। 

राजगोपाल को चिकित्सा कारणों से जमानत पर रिहा किया गया था जबकि उच्चतम न्यायालय में उसका मामला लंबित था। उन्तीस मार्च, 2019 को शीर्ष न्यायालय ने राजगोपाल के आजीवन कारावास की सजा को बरकरार रखा था। शीर्ष न्यायालय के आदेश के आधाार पर राजगोपाल को सात जुलाई, 2019 तक अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण करना था और इसके बाद उसे अपना पूरा जीवन जेल में बिताना था। एजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.