तेजस ने किया कमाल, पहली बार सफल अरेस्टेड लैंडिंग

Samachar Jagat | Saturday, 14 Sep 2019 10:16:39 AM
Tejas did amazing, successful Arrested Landing for the first time


इंटरनेट डेस्क। हल्के लड़ाकू विमान तेजस के नौसेना के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ दियां विमान वाहक पोत (एयरक्राफ्ट कैरियर) पर उतरने की अपनी काबिलियत दिखाई। विमानवाहक पोत पर लड़ाकू विमान को अरेस्टेड लैंडिंग के तहत उतारा जाता है।

इस लैंडिंग के दौरान नीचे से लगे तारों की मदद से विमान की रफ्तार कम कर दी जाती है। तेजस की स्पीड उस वक्त 244 किलोमीटर प्रति घंटा थी और सिर्फ 2 सेकंड में उसे जीरो कर लैंड करके दिखाया गया। स्वदेशी तकनीक से विकसित भारत के इस हल्के लड़ाकू विमान के अरेस्टेड लैंडिंग से जुड़े सैन्य अधिकारियों ने बताया कि इस सफल परीक्षण से भारत उन चुनिंदा देशों के समूह में पहुंच गया है जो विमानवाहक पोत पर उतरने में सक्षम जेट विमान का डिजाइन तैयार करने में समर्थ है। अधिकारी ने बताया कि यह टेस्ट गोवा के एक तट पर हुआ।

इसमें परीक्षण विमान के विमानवाहक पोत पर उतरने के बाद कुछ ही दूरी पर उसके रुक जाने की क्षमता दर्शाता है। इस लैंडिंग के दौरान विमान से विमानवाहक पोत का एक तार जुड़ जाता है जिससे उसकी गति घट जाती है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) एयरॉनोटिकल डिवेलपमेंट एजेंसी, हिंदुस्तान एयरॉनोटिक्स लिमिटेड के एयरक्रॉफ्ट रिसर्च ऐंड डिजाइन सेंटर और सीएसआईआर के साथ मिलकर तेजस के इस नौसेना संस्करण के विकास में जुटा है।

मंत्रालय ने कहा कि गोवा में आईएनएस हंस पर इस परीक्षण से विमान के भारतीय नौसेना के विमान वाहक विक्रमादित्य पर उतरने का रास्ता खुल गया है। इस विमान का नौसैन्य संस्करण अभी विकास के चरण में है। मंत्रालय ने कहा कि यह अरेस्टेड लैंडिंग सच्ची स्वदेशी क्षमता का आगमन संकेत है और इस उल्लेखनीय उपलब्धि को अंजाम तक पहुंचाने की हमारी वैज्ञानिक बिरादरी की पेशेवर क्षमता को दर्शाता है। 
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.