दलबदल के असर पर चर्चा के लिये संविधान विशेषज्ञों के साथ सम्मेलन आयोजित करेगी तेलंगाना कांग्रेस

Samachar Jagat | Friday, 14 Jun 2019 09:17:28 AM
Telangana Congress will hold a conference with constitutional experts to discuss the impact of the defection

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

हैदराबाद। तेलंगाना में अपने 12 विधायकों के पाला बदलने के मद्देनजर कांग्रेस ने गुरुवार को कहा कि वह दलबदल के असर पर चर्चा के लिये जल्द ही संविधान विशेषज्ञों के साथ गोलमेज बैठक आयोजित करेगी।

कांग्रेस  विधायक दल के नेता एम भट्टी विक्रमार्क ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने दलबदल पर यहाँ संविधान विशेषज्ञों के साथ जल्द ही गोलमेज सम्मेलन आयोजित करने का फैसला किया है।’’ इस सम्मेलन में देशभर से विधि विशेषज्ञों एवं मीडिया से जुड़ी जानी-मानी हस्तियों को आमंत्रित किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि इसमें दलबदल के असर और नुकसान पर गहराई से विचार-विमर्श किया जायेगा। विक्रमार्क ने कहा कि वह दल-बदल को लेकर सार्वजनिक तौर पर बहस करने के लिए तैयार हैं।

उन्होंने टीआरएस के खेमे में गए उन 12 विधायकों को यह कहने पर निशाने पर लिया कि वे टीआरएस में इसलिए गये क्योंकि राज्य के कंाग्रेस नेतृत्व में कमियां हैं। उन्होंने कहा कि वह इस आरोप को पूरी तरह से खारिज करते हैं कि राज्य का नेतृत्व प्रभावशाली नहीं है।

विक्रमार्क ने कहा कि अगर नेतृत्व असरदार नहीं है तो फिर इन विधायकों ने चुनावों के समय पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष से संपर्क क्यों किया और कांग्रेस के टिकट पर चुनाव क्यों लड़ा? टीआरएस विधायकों बाल्का सुमन और पार्टी के नेता गट्टू रामचंद्र राव ने विक्रमार्क के आरोपों को खारिज कर दिया है। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस  के नेता जब लोकतंत्र और उसे बचाने की बात कहते हैं तो राज्य के लोग हंसते हैं। बाल्का ने पत्रकारों से कहा कि विकमार्क का अनशन (हाल ही में किया गया) कुछ और नहीं बल्कि वर्चस्व के लिये कांग्रेस पार्टी के भीतर संघर्ष का हिस्सा है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.