भारतीय विद्या की बदौलत भारत- चेक गणराज्य आए करीब : कोविंद

Samachar Jagat | Sunday, 09 Sep 2018 09:40:08 AM
Thanks to Indian education, India-Czech Republic comes closer: Covind

प्राग। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा है कि भारतीय विद्या ने न केवल भारत और चेक गणराज्य को करीब लायी है बल्कि आधुनिक भारत के निर्माण और भारत के समृद्धशाली इतिहास के पुनरावलोकन में भी महती भूमिका निभायी है। 

समलैंगिकों को अधिकार दिलाने के लिए इस वकील ने गुजार दिए अपनी जिदंगी के बीस वर्ष, आखिरकार मिली जीत   

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद यहां चेक गणराज्य की राजधानी में चाल्र्स विश्वविद्यालय के भारतविदों की बैठक को शनिवार को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्राग में भारतीय विद्या का इतिहास बहुत पुराना है। इस विश्वविद्यालय में 1850 में संस्कृत प्रकोष्ठ की स्थापना के साथ इसकी शुरूआत हुयी थी। 

BJP ने सिद्धू पर साधा निशाना, कहा-पाकिस्तान की प्रशंसा कर रहे नेता कांग्रेस में बढ़ते जा रहे हैं 

उन्होंने कहा, प्रोफसर लेंसी स्कूल ऑफ इंडोलॉजी के संथापकों में से एक थे। उन्होंने गुरूदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर की कविताओं को बांग्ला से चेक भाषा में अनूदित किया था। उन्होंने अंग्रेजी को माध्यम नहीं बनाया। 

हिन्दुत्व की विचारधारा से और लोगों को जोड़ने के लिए प्रौद्योगिकी का यूज  करें: मोदी 

चेक गणराज्य के प्रधानमंत्री एंड्रेज बेबिस ने शुक्रवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मुलकात करके रक्षा एवं व्यापार के मसलों पर चर्चा की। बेबिस ने भारत में चेक गणराज्य की उद्योग में सहभागिता की संभावनाओं पर भी राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से चर्चा की। 

चीन ने भारत-अमेरिका टू प्लस टू वार्ता का स्वागत किया, रक्षा करार पर नहीं दी प्रतिक्रिया 

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने चेक गणराज्य की कंपनियों को भारत में निवेश और उद्योग शुरू करने के लिए आमंत्रित किया। राष्ट्रपति साईप्रस, बुल्गारिया और चेक गणराज्य की तीन दिवसीय यात्रा समाप्त करके रविवार को दिल्ली रवाना हो जायेंगे। 

अब कांग्रेस ने भी किया भारत बंद का ऐलान, पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती दरों पर केंद्र सरकार को घेरेगी 

सृजन घोटाला: आयकर विभाग ने उपमुख्यमंत्री की रिश्तेदार के आवास पर छापा मारा



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.