सभाापति ने राज्यसभा के सदस्यों को दी नसीहत, शून्यकाल के मुद्दे अगले दिन स्वत: स्वीकृत नहीं होंगे

Samachar Jagat | Friday, 22 Nov 2019 04:16:02 PM
The Chairman gave the edict to the members of Rajya Sabha, the issues of zero hours will not be automatically approved the next day.

नई दिल्ली। राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि अगर सदन में हंगामे के कारण शून्य काल के मुद्दे किसी दिन नहीं उठाए गए तो वे मुद्दे अगले दिन के लिए स्वत: स्वीकृत नहीं होंगे। सामान्य तौर पर अगर शून्यकाल के मुद्दे व्यवधान के कारण नहीं उठाए जाते तो उन्हें अगले दिन उठाने की अनुमति मिल जाती है।



loading...

नायडू ने कहा कि अब विशेष अनुमति के बाद ही ऐसे मुद्दे अगले दिन उठाए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने अपनी बात कहने के लिए सदन में व्यवधान पैदा करने की आदत बना ली है। हंगामे की वजह से सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी जाती है क्योंकि वे नहीं चाहते कि ऐसे अशोभनीय दृश्य लोग देखें।

नायडू ने कहा कि सदस्यों को लगता है कि अगर वे मुद्दे नहीं उठाए गए तो तो उन्हें अगले दिन ले लिया जाएगा। लेकिन विशेष अनुमति के बिना उन्हें फिर से नहीं लिया जाएगा। उन्होंने सदस्यों को यह भी निर्देश दिया कि वे सदन में कोई भी तख्ती, अखबार, एयर प्यूरीफायर या मास्क नहीं प्रदर्शित करें। उन्होंने कहा कि ऐसा करने पर कार्रवाई की जा सकती है।

नायडू ने इस बात पर भी आपत्ति जतायी कि कुछ सदस्यों उन्हें पत्र लिखते हैं और उन्हें पत्र मिलने से पहले ही मीडिया में पत्र लीक हो जाता है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार दबाव देने की रणनीति काम नहीं करेगी। उन्होंने सांसदों द्वारा लगातार टिप्पणी करते रहने और आसन की अवहेलना करने के लेकर भी आगाह किया और कार्रवाई की चेतावनी दी। नायडू ने कहा कि राज्यसभा का यह 250 वां सत्र चल रहा है और सदस्यों को सदन की कार्यवाही सुचारू रूप से चलाने में सहयोग करना चाहिए। -(एजेंसी)

loading...


 
loading...

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2020 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.