अगले 24 घंटे में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में होगी झमाझम बरसात

Samachar Jagat | Friday, 13 Jul 2018 04:53:38 PM
There will be heavy rain in western Uttar Pradesh in the next 24 hours

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

लखनऊ। दक्षिण पश्चिम मानसून सक्रिय होने से पूर्वी उत्तर प्रदेश में रूक-रूककर हो रही बरसात से नदियों का जलस्तर बढ़ने लगा है जबकि उमस भरी गर्मी से बेहाल पश्चिमी अंचल के बाशिदों को बारिश की फुहारें भिगोने के लिये तैयार हैं। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटे में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अधिसंख्य क्षेत्रों में झमाझम बरसात के प्रबल आसार हैं हालांकि पूरब में वर्षा की आवृत्ति में कमी आने का अनुमान है। इस दौरान गंगा, घाघरा, शारदा और राप्ती समेत राज्य से होकर गुजरने वाली नदियों के जलस्तर में बढ़ोत्तरी होने की संभावना है। बारिश का यह दौर कम से कम सप्ताहंत तक जारी रहने का अनुमान है। इस अवधि में राज्य के अधिसंख्य इलाकों में अधिकतम तापमान 32 डिग्री और न्यूनतम 24 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने के आसार हैं। 

विभाग के प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया कि पिछले 24 घंटे में पूर्वी उत्तर प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में मानसून के बादल छाये रहने से अधिकतम और न्यूनतम तापमान में मामूली कमी दर्ज की गयी हालांकि इक्का-दुक्का स्थानों को छोड़कर पश्चिमी क्षेत्र में उमस से लोग बेहाल रहे। इस अवधि में कैसरगंज और चंद्रदीपघाट में 18 सेमी, रामनगर और हैदरगढ में 13 सेमी, बहराइच, सिरौली और गौसपुर में 11 सेमी, बाराबंकी और फतेहपुर में नौ सेमी, मुसाफिरखाना में आठ सेमी, एल्गिनब्रिज, आजमगढ और मुजफ्फरपुर में सात सेमी, अकबरपुर में छह सेमी और नवाबगंज में पांच सेमी बारिश हुयी।

इस अवधि में फैजाबाद, इलाहाबाद, कानपुर, लखनऊ, वाराणसी, मुरादाबाद और आगरा मंडलों में अधिकतम तापमान में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गयी। फैजाबाद, गोरखपुर और वाराणसी मंडलों में दिन का तापमान सामान्य से कम रहा। बलिया राज्य का सबसे गर्म इलाका रहा जहां दिन का तापमान 38. 4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। उन्होंने बताया कि रात के तापमान में कोई खास रद्दोबदल नहीं हुआ। फैजाबाद, गोरखपुर, वाराणसी और झांसी में दिन का तापमान सामान्य से ज्यादा रहा। बहराइच में न्यूनतम तापमान 20. 2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जो राज्य में सबसे कम था।

केन्द्रीय जल आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार बाराबंकी के एल्गिनब्रिज में घाघरा उफान पर है जबकि अयोध्या में सरयू नदी का जलस्तर बढ रहा है। लखीमपुर के पलियाकला में शारदा नदी खतरे के निशान से महज 58 सेंमी नीचे बहर रही थी हालांकि नदी का जलस्तर स्थिर बना हुआ है। कानपुर और रायबरेली में गंगा और जौनपुर में गोमती का जलस्तर बढने लगा है। -एजेंसी 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.